अम्फान से हुए नुकसान को लेकर BJP ने ममता पर साधा निशाना, बंगाल सरकार की 9 ‘‘नाकामियों’’ की बनाई सूची

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2020   08:21
अम्फान से हुए नुकसान को लेकर BJP ने ममता पर साधा निशाना, बंगाल सरकार की 9 ‘‘नाकामियों’’ की बनाई सूची

भाजपा ने राज्य सरकार पर चक्रवात से हुए नुकसान से निपटने में ‘‘विफल’’ रहने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि सात दिन बाद भी राज्य के लोग परेशानी में है क्योंकि कई इलाकों में अब भी बिजली और पानी नहीं है। भाजपा ने लोगों के बीच अनाज के वितरण में कथित नाकामी के लिए भी सरकार पर निशाना साधा।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में कोविड-19 ( Covid 19) से निपटने और चक्रवात ‘अम्फान’ (Amphan) से हुए नुकसान को लेकर तृणमूल कांग्रेस सरकार पर हमला तेज करते हुए विपक्षी दल भाजपा ने राज्य सरकार की नौ ‘‘नाकामियों’’ की सूची बनाई है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि यह सूची पश्चिम बंगाल में मौजूदा हालात के मद्देनजर बनाई गई है। पार्टी ने कहा कि सरकार कोविड-19 संकट से निपटने में पूरी तरह से विफल रही है और राज्य का स्वास्थ्य ढांचा ढहने के कगार पर है। घोष ने कहा कि इससे लोगों की जान को खतरा पैदा हो गया है। 

इसे भी पढ़ें: अम्फान की तबाही के बाद पेड़ लगाएगा KKR, राहत कार्य में मदद करेगा

भाजपा ने राज्य सरकार पर चक्रवात से हुए नुकसान से निपटने में ‘‘विफल’’ रहने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि सात दिन बाद भी राज्य के लोग परेशानी में है क्योंकि कई इलाकों में अब भी बिजली और पानी नहीं है। भाजपा ने लोगों के बीच अनाज के वितरण में कथित नाकामी के लिए भी सरकार पर निशाना साधा। उसने कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी के कार्यकर्ताओं ने खाद्यान्न वितरण में गड़बड़ी की और उसे काला बाजार में ऊंची कीमतों पर बेचा। भाजपा ने आरोप लगाया कि राज्य की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो गई है और कानून एवं व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई है।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा अम्फान से प्रभावितों के अस्थायी आशियाने बनाने की खातिर बंगाल को भेजेगा 500 मेट्रिक टन पॉलीथिन

प्रवासी मजदूरों के लौटने का जिक्र करते हुए घोष ने कहा कि अगर महाराष्ट्र पश्चिम बंगाल के लोगों को वापस भेजना चाहता है और रेलवे मदद कर रहा है तो फिर राज्य उन्हें बुलाने से इनकार क्यों कर रहा है। उन्होंने उन आशंकाओं को खारिज किया कि प्रवासी मजदूरों के लौटने से कोविड-19 के मामले बढ़ सकते है। घोष ने कहा, ‘‘प्रवासी मजदूर नहीं लौटेंगे तब भी राज्य में कोविड-19 के मामले बढ़ेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।