उद्धव सरकार की महाराष्ट्रवासियों से अपील, घरों में रहें और सामान्य तरीके से मनाएं नए साल का जश्न

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 28, 2020   22:03
उद्धव सरकार की महाराष्ट्रवासियों से अपील, घरों में रहें और सामान्य तरीके से मनाएं नए साल का जश्न

सरकारी आदेश में कहा गया है कि इस दौरान कोई भी सांस्कृतिक या धार्मिक कार्यक्रम नहीं किया जाए, 2021 के पहले दिन धार्मिक स्थलों पर जा रहे लोग भीड़भाड़ से बचें। परिपत्र में प्रदूषण से बचने के लिए आतिशबाजी नहीं करने की सलाह दी गयी है।

मुम्बई। महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार को लोगों से कोविड-19 महामारी के बीच नया साल मनाने के लिए घर से बाहर नहीं जाने की अपील की और कहा कि राज्य के बड़े शहरों में अभी पांच जनवरी तक रात का कर्फ्यू जारी रहेगा। ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्वरूप (स्ट्रेन) सामने आने के बाद एहतियात के तौर पर (बड़े शहरों की) निगमीय सीमा में आने वाले क्षेत्रों में पांच जनवरी तक रात में 11 बजे से लेकर सुबह छह बजे तक का कर्फ्यू लगाया गया है। राज्य सरकार के परिपत्र में लोगों से ‘‘अपने घरों में ही सामान्य तरीके से नये साल का स्वागत करने’’ तथा ‘‘समुद्रतट, उद्यान, सड़कों पर जाने से बचने की अपील की गयी है, वैसे 31 दिसंबर को दिन का कर्फ्यू नहीं होगा।’’ 

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 पर गृह मंत्रालय की नई गाइडलाइन्स, वायरस के नए प्रकार के प्रति सतर्क रहने की जरूरत 

परिपत्र में विशेषकर दस साल से छोटे बच्चों और 60 साल से अधिक के बुजुर्गों से इस महामारी के मद्देनजर नया साल मनाने के लिए घर से बाहर नहीं जाने का आह्वान किया गया है। मुम्बई में नये साल पर मैरीन ड्राइव, गेटवे ऑफ इंडिया, गिरगांव और जुहू आदि स्थानों पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं। सरकारी आदेश में कहा गया है कि इस दौरान कोई भी सांस्कृतिक या धार्मिक कार्यक्रम नहीं किया जाए, 2021 के पहले दिन धार्मिक स्थलों पर जा रहे लोग भीड़भाड़ से बचें। परिपत्र में प्रदूषण से बचने के लिए आतिशबाजी नहीं करने की सलाह दी गयी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।