सुनील बंसल बनाए गए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना का भी मिला प्रभार

Sunil Bansal
Twitter @ Sunil Bansal
अंकित सिंह । Aug 10, 2022 4:36PM
भाजपा की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सुनील बंसल को राष्ट्रीय महामंत्री नियुक्त किया है। इसके साथ ही सुनील बंसल को पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना में प्रदेश प्रभारी के रूप में जिम्मेदारी सौंपी गई है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू होगी।

अब तक के उत्तर प्रदेश में संगठन का काम देख रहे सुनील बंसल को पार्टी की ओर से बड़ा इनाम मिला है। सुनील बंसल को अब भाजपा की ओर से राष्ट्रीय महामंत्री बनाया गया है। इतना ही नहीं, उन्हें तीन महत्वपूर्ण और अहम राज्यों की भी जिम्मेदारी दी गई है। भाजपा की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सुनील बंसल को राष्ट्रीय महामंत्री नियुक्त किया है। इसके साथ ही सुनील बंसल को पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना में प्रदेश प्रभारी के रूप में जिम्मेदारी सौंपी गई है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू होगी। सुनील बंसल अब तक उत्तर प्रदेश में संगठन का काम कर रहे थे। उन्होंने 2017, 2019 और 2022 के चुनाव में उत्तर प्रदेश में पार्टी के लिए बेहतरीन काम किया है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के लिए अपार संभावनाओं से परिपूर्ण होगा जी-20 सम्मेलन : योगी आदित्यनाथ

हालांकि, 2014 में सबसे पहले उन्हें उत्तर प्रदेश प्रदेश में लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी ने सह प्रभारी के रूप में भेजा था। उस वक्त उत्तर प्रदेश में प्रभारी की भूमिका में अमित शाह थे। सुनील बंसल को संगठन में काम करने का लंबा अनुभव है। वह अमित शाह के भी बेहद खास माने जाते हैं। वह आरएसएस के प्रचारक भी रहे हैं। वह आरएसएस के लिए भी लगातार काम करते हैं। पश्चिम बंगाल चुनाव के समय में भी सुनील बंसल को कुछ क्षेत्रों में वहां जिम्मेदारी सौंपी गई थी। सुनील बंसल उन चंद लोगों में से हैं जो खामोश रहकर अपना काम करते रहते हैं। 1989 में छात्र चुनाव में बंसल राजस्थान विश्वविद्यालय के महासचिव चुने गए।

इसे भी पढ़ें: 1942 में ही स्वतंत्रता की झलक बलिया ने अपने बल पर देखी, 80 साल पहले ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ रचा गया था इतिहास

आपको बता दें कि 2024 के आम चुनाव को लेकर यह तीनों राज्य बेहद अहम है। इन तीनों राज्यों में भाजपा को खुद को स्थापित करने की कोशिश कर रही है। पश्चिम बंगाल में भाजपा के लिए बड़ी चुनौती ममता बनर्जी हैं। तो वहीं तेलंगाना में के चंद्रशेखर राव की राजनीति का दबदबा है जहां भाजपा अपनाी जमीन तैयार करने की कोशिश कर रही है। इसके साथ ही ओडिशा भी 2024 के लिहाज से भाजपा के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। ओडिशा में भाजपा फिलहाल खुद को स्थापित करने की कोशिश कर रही है। ऐसे में प्रभारी के रूप में सुनील बंसल की भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो सकते हैं।

अन्य न्यूज़