कमलनाथ बताएं मध्यप्रदेश में कितने माफिया हैं, सूची जारी करें: शिवराज चौहान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 24, 2020   19:29
कमलनाथ बताएं मध्यप्रदेश में कितने माफिया हैं, सूची जारी करें: शिवराज चौहान

भाजपा ने प्रदेश सरकार द्वारा माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान के नाम पर भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ भाजपा ने आज समूचे मध्यप्रदेश में राज्य व्यापी आंदोलन करके हर जिले में कलेक्ट्रेट का घेराव किया।

भोपाल। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की कमलनाथ नीत कांग्रेस सरकार पर माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान के नाम पर भाजपा कार्यकर्ताओं को परेशान करने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को कहा कि कमलनाथ बताएं कि मध्यप्रदेश में कुल कितने माफिया हैं और उनकी सूची सार्वजनिक करें। भाजपा ने प्रदेश सरकार द्वारा माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान के नाम पर भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ भाजपा ने आज समूचे मध्यप्रदेश में राज्य व्यापी आंदोलन करके हर जिले में कलेक्ट्रेट का घेराव किया।

इसके तहत भोपाल में आंदोलन कर रहे चौहान ने सभास्थल पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘कमलनाथ बताएं कि मध्यप्रदेश में हत्या, चोरी, डकैती, बलात्कार एवं अपहरण करने वाले कुल कितने माफिया हैं। उनकी सूची सार्वजनिक करें।’’ उन्होंने कहा कि इसके अलावा वह (कमलनाथ) यह भी बताएं कि उन्होंने क्या संघटित अपराध किया है। चौहान ने कहा, ‘‘यदि वह ऐसा करते हैं तो भाजपा भी माफिया को खत्म करने में उनकी सहायता करेगी। किसी माफिया को हम नहीं छोड़ेंगे।’’

इसे भी पढ़ें: प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज कराने राजगढ़ जायेंगे शिवराज

उन्होंने कहा, ‘‘कमलनाथ की सरकार प्रदेश में शराब की उप दुकानें खोलना चाहती है, लेकिन हम शराब की कोई उप दुकान नहीं खुलने देंगे। भाजपा की महिला कार्यकर्ता इन उप दुकानों को खोलने से रोकने के लिए डंडा लेकर तैयार रहेंगी।’’ उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस की प्रदेश सरकार माफिया के नाम पर सिर्फ भाजपा कार्यकर्ताओं को परेशान कर रही है। लेकिन जब हम पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से आपातकाल में नहीं डरे थे, तो अब हम कमलनाथ सरकार से क्यों डरेंगे।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।