नए संसद भवन में मनेगी आज़ादी की 75वीं सालगिरह

the-75th-anniversary-of-independence-will-be-celebrated-in-the-new-parliament-house
मंत्रालय के उच्च पदस्थ आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को बताया की इस महत्वकांक्षी परियोजना के तहत नये कलेवर में संसद भवन, संयुक्त केंद्रीय सचिवालय और सेंट्रल विस्टा केडिज़ाइन के लिये राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रस्ताव मांगे गए हैं।

नयी दिल्ली। सरकार ने संसद भवन, केंद्रीय सचिवालय और राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक ‘सेंट्रल विस्टा’ को अगले पांच साल में नया स्वरूप देने का फ़ैसला किया है। इसके अंतर्गत 2022 में आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ नये या पुनर्विकास के बाद बदले स्वरूप वाले संसद भवन में मनायी जाएगी। आवास एवं शहरी मामलों का मंत्रालय बदली परिस्थितियों के मुताबिक़ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस ड्रीम प्रोजेक्ट को अंजाम देगा। 

इसे भी पढ़ें: तीन तलाक रोधी कानून बनने के बाद मुकदमों की संख्या में हुई बढ़ोत्तरी, इतने मामले हुए दर्ज

मंत्रालय के उच्च पदस्थ आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को बताया की इस महत्वकांक्षी परियोजना के तहत नये कलेवर में संसद भवन, संयुक्त केंद्रीय सचिवालय और सेंट्रल विस्टा केडिज़ाइन के लिये राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रस्ताव मांगे गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: 370 पर बोले जेपी नड्डा, पिछले 70 साल के दंश से मुक्त हो गया जम्मू कश्मीर

एक अधिकारी ने बताया कि 26 जनवरी 2020 से नवंबर 2020 तक सेंट्रल विस्टा का काम पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है। जबकि संसद भवन को नया स्वरूप देने का काम अगस्त 2022 तक पूरा करने का और संयुक्त केंद्रीय सचिवालय बनाने का काम 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य है। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़