महागठबंधन का मकसद सत्ता हासिल करना और निजी हित साधना है: अमित शाह

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 22 2019 4:58PM
महागठबंधन का मकसद सत्ता हासिल करना और निजी हित साधना है: अमित शाह

मालदा में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने राज्य में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव के बाद राज्य में लोकतंत्र बहाल होगा।

मालदा। पश्चिम बंगाल में भाजपा के चुनाव अभियान की शुरूआत करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि नागरिकता विधेयक पारित होने पर सभी बंगाली शरणार्थियों को नागरिकता दी जाएगी। मालदा में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने राज्य में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव के बाद राज्य में लोकतंत्र बहाल होगा।



 
उन्होंने कहा, ‘‘मैं यकीन दिलाना चाहता हूं कि सभी बंगाली शरणार्थियों को नागरिकता विधेयक के तहत नागरिकता दी जाएगी। तृणमूल कांग्रेस सरकार ने शरणार्थियों के लिए कुछ नहीं किया, लेकिन हम उन्हें नागरिकता देंगे।’’ कोलकाता में हुई विपक्षी पार्टियों की रैली पर निशाना साधते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा विरोधी पार्टियों ने रैली के दौरान एक बार भी ‘भारत माता की जय’ या ‘वंदे मातरम’ नहीं बोला और सिर्फ ‘मोदी मोदी’ करते रहे।
 
 
गौरतलब है कि रैली के अंत में विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने ‘जय हिंद’ के नारे लगाए थे। शाह ने आरोप लगाया कि विपक्षी पार्टियों के महागठबंधन का मकसद ‘‘सत्ता हासिल करना और निजी हित साधना’’ है। उन्होंने कहा, ‘‘महागठबंधन सिर्फ लोभ-लालच के बारे में है। वे मोदी को हटाना चाहते हैं जबकि हम गरीबी एवं भ्रष्टाचार को हटाना चाहते हैं।’’ ममता बनर्जी की सरकार को ‘‘हत्या कराने वाली सरकार’’ बताते हुए उन्होंने कहा कि आम चुनावों में उनकी हार होगी। 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप