राष्ट्रीय एकता परेड कार्यक्रम में बोले PM मोदी, संप्रभुता, सम्मान की रक्षा के लिए आज का भारत पूरी तरह तैयार

Narendra Modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश आज रक्षा के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनने की ओर बढ़ रहा है तथा सीमाओं को लेकर भी अब भारत की नजर और नजरिया दोनों बदल गए हैं।

केवडिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि अपनी संप्रभुता और सम्मान की रक्षा के लिए आज का भारत पूरी तरह तैयार है और इसे चुनौती देने वालों को मुहंतोड़ जवाब देने की ताकत रखता है। देश के पहले गृह मंत्री सरदार बल्‍लभ भाई पटेल की 145वीं जयंती पर यहां ‘स्‍टैचयू ऑफ यूनिटी’ पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि देश आज रक्षा के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनने की ओर बढ़ रहा है तथा सीमाओं को लेकर भी अब भारत की नजर और नजरिया दोनों बदल गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी ने वाल्मीकि जयंती पर देशवासियों को दी शुभकामनाएं, बोले- उनके विचार सदैव प्रेरित करेंगे 

उन्होंने कहा, ‘‘आज भारत की भूमि पर नजर गड़ाने वालों को मुंहतोड़ जवाब देने की ताकत हमारे वीर जवानों के हाथों में है। आज का भारत सीमाओं पर है सैकड़ों किलोमीटर लंबी सड़कें बना रहा है तो दर्जनों पुल लगातार बनाता चला जा रहा है। अपनी संप्रभुता और सम्मान की रक्षा के लिए आज का भारत पूरी तरह प्रतिबद्ध, पूरी तरह तैयार है।’’ 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी ने 'स्‍टैच्यू ऑफ यूनिटी' पहुंचकर सरदार पटेल को दी श्रद्धांजलि, राष्ट्रीय एकता परेड में हुए शामिल 

प्रधानमंत्री का यह बयान ऐसे समय में आया है जब पिछले दिनों पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के निकट भारत और चीन की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी और उसमें कई जवान शहीद हो गए थे। दोनों देशों के बीच अभी भी इसे लेकर गतिरोध कायम है। दोनों देशों के बीच सैन्य व कूटनीतिक स्तर पर गतिरोध समाप्त करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़