PM मोदी ने दिया योग मंत्र, कहा- अच्छी सेहत और जन कल्याण की दिशा में दुनिया को कर रहा एकजुट

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 26, 2022   11:28
PM मोदी ने दिया योग मंत्र, कहा- अच्छी सेहत और जन कल्याण की दिशा में दुनिया को कर रहा एकजुट

प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को कहा कि, योग अच्छी सेहत और जन कल्याण की दिशा में दुनिया को एकजुट कर रहा है।उन्होंने कहा,यह केंद्र एक स्वस्थ धरती बनाने और वैश्विक भलाई के लिए हमारी समृद्ध पारंपरिक प्रथाओं का लाभ उठाने में योगदान देगा।पीएम ने कहा कि भारत की पारंपरिक औषधियां और स्वास्थ्य पद्धतियां विश्व स्तर पर बहुत लोकप्रिय हैं।

नयी दिल्ली।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि योग अच्छे स्वास्थ्य और जन कल्याण की दिशा में दुनिया को एकजुट कर रहा है और उन्होंने 114 देशों के लोगों के लिए योग सत्र आयोजित करने के दोहा में भारतीय दूतावास के ‘महान प्रयास’ की सराहना की। मोदी ने अपने ट्वीट में गुजरात के जामनगर में ‘डब्ल्यूएचओ ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन’ की स्थापना के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ ‘मेजबान देश के समझौते’ पर हस्ताक्षर करने वाले आयुष मंत्रालय का भी उल्लेख किया और कहा कि भारत को ऐसे आधुनिक केंद्र का स्थान बनने का सौभाग्य मिला है।

इसे भी पढ़ें: भोपाल में गिरफ्तार आतंकियों के मददगार को भेजा सेंट्रल जेल, एटीएस ने कोर्ट से नहीं मांगी रिमांड

उन्होंने कहा, ‘‘यह केंद्र एक स्वस्थ धरती बनाने और वैश्विक भलाई के लिए हमारी समृद्ध पारंपरिक प्रथाओं का लाभ उठाने में योगदान देगा।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की पारंपरिक औषधियां और स्वास्थ्य पद्धतियां विश्व स्तर पर बहुत लोकप्रिय हैं। उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ केंद्र समाज में जन स्वास्थ्य कल्याण को बढ़ाने में एक लंबा सफर तय करेगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पहले ट्वीट किया था कि वह और भारत सरकार आधुनिक विज्ञान और प्रौद्योगिकी के माध्यम से पारंपरिक दवाओं की क्षमता को बढ़ाने के लिए ‘डब्ल्यूएचओ ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन’ की स्थापना को लेकर सहमत हुए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।