10 करोड़ से अधिक कोविड वैक्सीनेशन करने वाला देश में पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश

10 करोड़ से अधिक कोविड वैक्सीनेशन करने वाला देश में पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा मच्छर जनित रोग तथा जल जनित रोग से बचाने के लिए आवश्यक चिकित्सीय प्रबन्ध किये गये हैं। उन्होंने बताया कि सभी लोग मच्छर जनित एवं जलजनित रोग से बचने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा बतायी जा रही सावधानियों को अपनाएं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 2,15,209 सैम्पल की जांच की गयी है। जिसमें कोरोना संक्रमण के 14 नये मामले आये हैं। प्रदेश में अब तक कुल 7,75,81,132 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 26 तथा अब तक कुल 16,86,694 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 177 एक्टिव मामले हैं तथा 155 लोग होम आइसोलेशन में है। 

इसे भी पढ़ें: फिरोजाबाद में डेंगू से अब तक 63 लोगों की मौत, मरीजों के आने का सिलसिला जारी 

प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश 10 करोड से अधिक कोविड वैक्सीनेशन करने वाला देश में पहला राज्य है। उन्होंने कोविड वैक्सीनेशन के लिए लगे सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को 10 करोड़ से अधिक वैक्सीनेशन करने पर धन्यवाद दिया है। कल तक कुल 10,00,36,235 कोविड डोज दी गयी है। प्रदेश में कल तक पहली डोज 8,15,25,547 तथा दूसरी डोज 1,85,10,688 लगायी गयी हैं। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए योगी आदित्‍यनाथ ने पीएम मोदी का आभार जताया 

प्रसाद ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा मच्छर जनित रोग तथा जल जनित रोग से बचाने के लिए आवश्यक चिकित्सीय प्रबन्ध किये गये हैं। उन्होंने बताया कि सभी लोग मच्छर जनित एवं जलजनित रोग से बचने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा बतायी जा रही सावधानियों को अपनाएं। उन्होंने बताया कि कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण करे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कोविड हेल्पलाइन 18001805145 पर सम्पर्क करे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।