'UP की कानून व्यवस्था देश के लिए बनी नजीर', योगी बोले- पहले महीनों तक कर्फ्यू रहता था लेकिन आज समाप्त है

Yogi
ANI
अंकित सिंह । Nov 25, 2022 3:21PM
अपने बयान में योगी ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में आपने बदलते हुए उत्तर प्रदेश को देखा है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था देश के लिए एक नजीर बनी हुई है। 2012 से 2017 के बीच प्रदेश में दंगों की एक लंबी श्रंखला खड़ी थी। 700 से अधिक छोटे-बड़े दंगे हुए थे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार राज्य में कानून व्यवस्था सख्त होने की बात करते रहते हैं। भाजपा का भी दावा है कि योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था दुरुस्त कर दी है।  2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा नए कानून व्यवस्था टेबल पर दोबारा जीत हासिल की थी। एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ ने साफ तौर पर कहा है कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरीके से दुरुस्त है। अलीगढ़ में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था देश के लिए एक नाजिर बनी हुई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पहले महीनों तक कर्फ्यू रहता था, लेकिन आज यह पूरी तरह समाप्त है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में मानसिक रूप से कमजोर नाबालिग लड़की से दुष्कर्म, मामला दर्ज

अपने बयान में योगी ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में आपने बदलते हुए उत्तर प्रदेश को देखा है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था देश के लिए एक नजीर बनी हुई है। 2012 से 2017 के बीच प्रदेश में दंगों की एक लंबी श्रंखला खड़ी थी। 700 से अधिक छोटे-बड़े दंगे हुए थे। उन्होंने यह भी कहा कि महीनों तक कर्फ्यू रहता था लेकिन आज कर्फ्यू समाप्त। आज दंगे नहीं, दंगाई नहीं। योगी ने साफ तौर पर कहा कि ये नया प्रदेश है जो मेहनत के साथ सभी को सम्मान के साथ जीने का अधिकार तो देता है मगर जबरन किसी व्यक्ति के साथ किसी ने दुस्साहस करने का प्रयास किया तो उसका जीना हराम कर देते हैं।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा में 29 हजार लीटर शराब गटकने के बाद अब UP में चूहों ने खाया 500 किलो गांजा! मथुरा पुलिस की रिपोर्ट पर कोर्ट भी हैरान

इससे पहले माफियाओं के खिलाफ एक्शन के लिए योगी सरकार एंटी माफिया टास्क फोर्स का गठन किया है। उत्तर प्रदेश के एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत  कुमार ने बताया कि माफियाओं के खिलाफ सांसद के निर्देश पर एंटी माफिया टास्क फोर्स का गठन किया गया है। उन्होंने कहा अब तक 62 माफियाओं और उनके साथियों के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की गई है। कुल 21 अभियोगों में 41 लोगों को सजा दिलाई गई है जिसमें 2 को मृत्युदंड की सजा मिली है। उन्होंने कहा कि 62 माफियाओं और उनके साथियों के 2524 करोड़ की संपत्तियों पर ज़ब्तीकरण और ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की गई है।

अन्य न्यूज़