Madhya Pradesh: वीडी शर्मा ने कहा- हम विपक्ष को कमजोर नहीं मानते, कांग्रेस का तंज- डर गई है भाजपा

Madhya Pradesh: वीडी शर्मा ने कहा- हम विपक्ष को कमजोर नहीं मानते, कांग्रेस का तंज- डर गई है भाजपा

वीडी शर्मा ने कहा कि अंतर्कलह से जूझ रही। कांग्रेस को वह कमजोर नहीं मानते हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता से बेदखल होने के बाद कांग्रेस के घर में ही घमासान चल रहा है। कमलनाथ अकेला ही दौरा कर रहे हैं।

भले ही मध्यप्रदेश में अब भी विधानसभा चुनाव में काफी वक्त बाकी है। लेकिन भाजपा ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। भाजपा लगातार चुनावी तैयारियों को देखते हुए बैठक कर रही है। आज और कल राजधानी भोपाल में भी भाजपा संगठन की बड़ी बैठक होने वाली है जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ-साथ कई केंद्रीय मंत्री और प्रदेश सरकार के मंत्री शामिल होंगे। इन सबके बीच भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने बड़ा बयान दिया है। वीडी शर्मा ने कहा कि यह बैठक आगे की रणनीति को लेकर की जा रही है। अपने बयान में वीडी शर्मा ने कांग्रेस पर भी बड़ा हमला किया।

इसे भी पढ़ें: एमपी बीजेपी की 2 दिवसीय बड़ी बैठक आज से, इन मुद्दों पर करेंगे चर्चा

वीडी शर्मा ने कहा कि अंतर्कलह से जूझ रही। कांग्रेस को वह कमजोर नहीं मानते हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता से बेदखल होने के बाद कांग्रेस के घर में ही घमासान चल रहा है। कमलनाथ अकेला ही दौरा कर रहे हैं। लेकिन हम अपने विपक्ष को कभी कमजोर नहीं समझते हैं। वीडी शर्मा के इसी बयान पर कांग्रेस ने भी पलटवार कर दिया। कांग्रेस के प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि भाजपा कमलनाथ के 2023 के सियासी जमावट से डर गई है और यही वजह है कि कांग्रेस को रोकने के लिए भाजपा हाई लेवल मीटिंग बुलाने पर मजबूर हो गई है। कांग्रेस ने तो यह भी कह दिया कि खुद वीडी शर्मा कांग्रेस की मजबूती पर मोहर लगा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: मध्यप्रदेश में भूकंप के हल्के झटके, अचानक रसोई के बर्तन गिरने से उड़ी लोगों की नींद

दरअसल, कमलनाथ की ओर से घर चलो घर-घर चलो अभियान चलाया जा रहा है। इसको लेकर कमलनाथ लगातार प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं। कमलनाथ 2018 में अपने सरकार द्वारा किए गए कामकाज को भी बता रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि 2023 में भी कांग्रेस में एक और फिर से मध्य प्रदेश की सरकार बनी है। दूसरी ओर भाजपा लगातार जमीन पर अपने कामों को दिखाने की कोशिश कर रही है। खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी राज्य के अलग-अलग क्षेत्रों का लगातार दौरा करते रहते हैं। वही संगठन के कामकाज में भी फिलहाल मजबूती देखने को मिली है। भले ही मध्यप्रदेश में विधानसभा के चुनाव 2023 के आखिर में होने हैं लेकिन हलचल अभी से ही तेज हो गई है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।