किसानों को खुशहाल, आत्मनिर्भर और आय को दोगुना करने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध- विधान सभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार

किसानों को खुशहाल, आत्मनिर्भर  और  आय को दोगुना करने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध-  विधान सभा अध्यक्ष  विपिन सिंह परमार

उन्होंने कहा कि प्रदेश के लगभग 90 प्रतिशत परिवार कृषि एवं सम्बन्धित क्षेत्रों से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसान बागवान लावारिश और जंगली पशुओं द्वारा फसलों को उजाड़ने से परेशान थे और खेतीबाड़ी को छोड़ने को मजबूर थे। प्रदेश के किसानों की खेती संरक्षित करने के लिए सरकार ने बाड़ बंदी योजना आरम्भ की है

पालमपुर  विधान सभा अध्यक्ष, विपिन सिंह परमार ने सुलाह हलके की ग्राम पंचायत घनेटा में   किसानों को संबोधित करते हुए  कहा कि  किसानों को  खुशहाल, आत्मनिर्भर  और  आय को दोगुना करने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है तथा कई कल्याणकारी योजनायें चलाई जा रही हैं।  

 

परमार ने सुलाह हलके की ग्राम पंचायत घनेटा में 1 करोड़ 49 लाख रुपये की लागत से स्थापित सोलर फेंसिंग का लोकार्पण करने के उपरांत घनेटा  में एक दिवसीय कृषि प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए घनेटा पंचायत के लोगों को प्रदेश सरकार की महत्वकांशी  मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना  में बाड़-बंदी के लिये घनेटा पंचायत  में  शत प्रतिशत बाड़-बंदी का लाभ लेने  के बधाई दी। 

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर ने वर्षा की प्रत्येक बूंद के संग्रहण की आवश्यकता पर बल दिया

उन्होंने कहा कि लगभग 14 किलोमीटर बाड़ बंदी करवाकर सभी के समक्ष अनोखा उदाहरण पेश किया है। उन्होंने कहा कि यहां के किसान बहुत  जागरूक  है जिन्होंने 29 लाख रुपये विकास में जनसयोग  देकर  पूरी पंचायत की बाड़ बंदी करवाकर मिसाल उत्पन्न की है। 

उन्होंने कहा कि  प्रदेश के लगभग 90 प्रतिशत परिवार कृषि एवं सम्बन्धित क्षेत्रों से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसान बागवान लावारिश और जंगली पशुओं द्वारा फसलों को उजाड़ने से परेशान  थे और खेतीबाड़ी को छोड़ने को मजबूर थे। प्रदेश के किसानों की खेती संरक्षित करने के लिए सरकार ने बाड़ बंदी योजना आरम्भ की है इसमें 50 से 85 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस योजना में जिला कांगड़ा में 9 करोड़ रुपये के प्रस्ताव स्वीकृत किये गए हैं।

इसे भी पढ़ें: उदयपुर में अग्निशमन उप-केन्द्र खोलने और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र उदयपुर को नागरिक अस्पताल में स्तरोन्नत करने की घोषणा की

उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती-खुशहाल किसान योजना’’ के अन्तर्गत  इस वर्ष 50 हज़ार नये किसान परिवारों को जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित  किया गया है। उन्होंने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए किये जा रहे प्रयासों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती  खुशहाल किसान योजना में सुलाह हलके में 85 प्रशिक्षण शिविर लागये गये हैं और 3840 किसानों को प्रशिक्षण देकर प्राकृतिक खेती में अधीन 47 हेक्टेयर क्षेत्र लाने का  लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

 

 

उन्होंने कहा कि किसानों को लावारिश और जंगली पशुओं से राहत देने लिये सुलाह के नागणी ने गौसदन बनाया गया है और  यहां 4 करोड़ से काऊ सेंचुरी  बनाई जा रही है।  उन्होंने  11 स्वयं सहायता समूहों को 11- 11 हजार रुपये,  कृषक समहू को 21 हजार, ब्रांकड सामुदायिक भवन को 10 लाख, लुलस बस्ती सड़क को 10 लाख और घराणु बस्ती को 10 लाख देने की घोषणा की। विधान सभा अध्यक्ष ने इससे पहले यहां आयोजित कृषि प्रदर्शनी का शुभारंभ और अवलोकन भी किया।

 

 

 

इसे भी पढ़ें: पैरा बैडमिंटन खिलाडी चरनजीत कौर दिव्यांगों के लिए प्रेरणास्त्रोत है, जो दिव्यांग होने के बाद अपने हौंसलों को उड़ान नहीं दे पाते

 

 

इससे पहले  उपनिदेशक, कृषि जीत राम ठाकुर ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और एक दिवसीय कृषि प्रशिक्षण शिविर में आने पर आभार प्रकट किया। उन्होंने कृषि विभाग की कल्यणकारी योजनाओं की जानकारी दी।  कार्यक्रम में  भाजपा मण्डल अध्यक्ष देश राज शर्मा, महामन्त्री सुखदेव मसन्द, बीडीसी अध्यक्ष अनिता चौधरी, बीडीसी सदस्य पवन कपूर स्थानीय पंचायत की प्रधान सीमा देवी,  रागिनी रुकवाल , डॉ राजेश सूद, डॉ शशि पॉल अत्री, डॉ सुशील कुमार, डॉ रविंदर कुमार, राकेश पटियाल, इलाके के किसान, स्वयं सहायता समूह के सदस्य इलाके के प्रबुद्ध लोग  उपस्थित रहे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।