अमित शाह के रोड-शो में हिंसा, TMC और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई

By अंकित सिंह | Publish Date: May 14 2019 7:35PM
अमित शाह के रोड-शो में हिंसा, TMC और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई
Image Source: Google

इस हिंसा के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। एक समाचार चैनल से बातचीत में शाह ने कहा कि ममता दीदी हार के डर से हमें रोकने की कोशिश कर रही हैं और हिंसा करवा रही हैं।

कोलकता में रोड-शो कर रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह में हिंसा की खबर आ रही है। कोलकाता में कॉलेज स्ट्रीट पर भाजपा प्रमुख अमित शाह के रोड शो का काफिला गुजरने के दौरान TMC और भाजपा के छात्र कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई हो गई है। बिधान सरणी पर कॉलेज हॉस्टल से अमित शाह के काफिले पर पथराव किया गया। भाजपा समर्थकों ने भवन का घेराव किया और जवाबी हमला किया। इस दौरान दोनों दलों के समर्थकों ने कॉलेज हॉस्टल के बाहर आग लगा दी। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं को चोट भी लगी है।

भाजपा को जिताए

 
उधर इस हिंसा के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। एक समाचार चैनल से बातचीत में शाह ने कहा कि ममता दीदी हार के डर से हमें रोकने की कोशिश कर रही हैं और हिंसा करवा रही हैं। उन्होंने कहा कि मुझे विवेकानंद के घर जाने से रोका गया है जिसका मुझे अफसोस है। 
 
अमित शाह के रोडशो के दौरान हिंसक झड़पें


 
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के शहर में मंगलवार को हुए रोड शो के दौरान भाजपा समर्थकों एवं वाम तथा तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद (टीएमसीपी) के छात्र कार्यकर्ताओं के बीच झड़पें हुईं। अधिकारियों ने बताया कि यह तनाव तब बढ़ गया जब अमित शाह के काफिले के कॉलेज स्ट्रीट और स्वामी विवेकानंद के निवास के लिए उत्तरी कोलकाता में बिधान सारणी से गुजरते वक्त पथराव किया गया।
 
अधिकारियों ने बताया कि कॉलेज स्ट्रीट पर कलकत्ता विश्वविद्यालय परिसर के बाहर झड़प शुरू हो गई जब वाम एवं टीएमसीपी के छात्र कार्यकर्ताओं ने शाह के खिलाफ नारेबाजी करनी शुरू कर दी। उन्होंने काले झंडे दिखाए और “अमित शाह वापस जाओ” लिखे हुए पोस्टर हवा में लहराए। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित किया। अधिकारियों ने बताया कि विद्यासागर महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय छात्रावास के बाहर उस वक्त झड़प हुई जब टीएमसीपी कार्यकर्ताओं ने शाह के काफिले पर पथराव किया। 


 
गुस्साए भाजपा समर्थकों ने छात्रावास के दरवाजों को बंद कर दिया और साइकलों एवं मोटरबाइकों को आग के हवाले कर दिया। उन्होंने इमारत पर पथराव भी किया। अधिकारियों ने बताया कि भाजपा समर्थकों ने छात्रावास इमारत के बाहर लगी ईश्वर चंद्र विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा भी झड़प के दौरान तोड़ दी। उन्होंने बताया कि पुलिस का एक बड़ा दस्ता मौके पर पहुंचा और स्थिति को नियंत्रित किया।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video