ट्रैक्टर की टक्कर से गिरी दीवार, मलबे में दबने से तीन बच्चों की मौत

ट्रैक्टर की टक्कर से गिरी दीवार, मलबे में दबने से तीन बच्चों की मौत

वही दीवार के पास खेल रहे 12 वर्षीय प्रशांत पुत्र कडोरी धानक, 12 वषीर्य सूरज पुत्र मुन्नीलाल धानक, नौ वर्षीय करन पुत्र फूलसिंह धानक एवं सात वर्षीय अनुज पुत्र राजेन्द्र मेहरा मलबे में दबने गए। ग्रामीणों ने मलबे में दबे बच्चों को निकाला और उन्हें गाडरवारा अस्पताल लाए।

नरसिंहपुर। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के पलोहाबड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम धोखेड़ा में ट्रैक्टर की टक्कर से एक घर की कच्ची दीवार गिर गई। इसके कारण दीवार की चपेट में पास ही में खेल रहे बच्चे आ गए और मलबे में दब जाने से तीन बच्चों की मौत हो गई। एक और बच्चा गंभीर है, जिसका उपचार किया जा रहा है। धोखेड़ा गांव में सोनू पटेल के मकान के पास गांव के बच्चे खेल रहे थे। इसी दौरान एक ट्रैक्टर निकला। अनियंत्रित ट्रैक्टर ने सोनू के मकान की दीवार को धक्का मार दिया जिससे दीवार गिर गई।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश हनी ट्रैप मामले की सुनवाई आगे बढ़ी, एसआईटी ने मांगा हैदराबाद जाने का समय

वही दीवार के पास खेल रहे 12 वर्षीय प्रशांत पुत्र कडोरी धानक, 12 वषीर्य सूरज पुत्र मुन्नीलाल धानक, नौ वर्षीय करन पुत्र फूलसिंह धानक एवं सात वर्षीय अनुज पुत्र राजेन्द्र मेहरा मलबे में दबने गए। ग्रामीणों ने मलबे में दबे बच्चों को निकाला और उन्हें गाडरवारा अस्पताल लाए। यहां डॉक्टरों ने प्रशांत और सूरज को मृत घोषित कर दिया गया। करन की हालत गंभीर होने पर उसे नरसिंहपुर रेफर किया गया, लेकिन  इलाज के दौरान करन की भी मौत हो गई।

 

इसे भी पढ़ें: एसडीओ ने बिल भुगतान के लिए माँगी रिश्वत, लोकायुक्त पुलिस ने रंगेहाथों किया गिरफ्तार

जबकि अनुज का इलाज अभी गाडरवारा अस्पताल में ही चल रहा है। पुलिस ने बताया कि मामला दर्ज करके घटना की जांच की जा रही है जिस ट्रैक्टर का दीवार में धक्का लगा वह किसी मुल्लू धानक का बताया जा रहा है जो मकान मालिक सोनू का बटियादार है। घटना रविवार देर शाम की बताई जा रही है। सोमवार सुबह गाडरवारा में मृत बच्चों के शवों का पोस्टमार्टम किया गया।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।