अयोध्या दौरा क्यों किया रद्द, राज ठाकरे ने पुणे रैली में बताया, उत्तर भारतीयों के अपमान पर दिया जवाब

 Raj Thackeray
ANI
अभिनय आकाश । May 22, 2022 12:31PM
मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने कहा कि दो दिन पहले मैंने अपनी अयोध्या यात्रा स्थगित करने के बारे में ट्वीट किया था। मैंने जानबूझकर बयान दिया ताकि सभी को अपनी प्रतिक्रिया देने की अनुमति मिल सके।

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) चीफ राज ठाकरे ने पुणे में एक बड़ी रैली को संबोधित किया। औरंगाबाद के बाद ये उनकी दूसरी रैली है। इस रैली में राज ठाकरे ने बताया कि आखिर क्यों उनका अयोध्या दौरा रद्द किया गया। उन्होंने इस दौरान कहा कि अगर मैं अयोध्या जाता तो मेरे खिलाफ कई केस दर्ज किए जाते। मैं रामलला के दर्शन करना चाहता था। लेकिन तबीयत ठीक नहीं होने के चलते ऐसा नहीं हो पाया। पुणे में मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री से अनुरोध करता हूं कि जल्द से जल्द समान नागरिक संहिता लाए, जनसंख्या नियंत्रण पर भी कानून लाए और औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर कर दिया जाए। 

इसे भी पढ़ें: राज ठाकरे को 13 शर्तों के साथ पुणे में सभा करने की मिली अनुमति, लाउडस्पीकर, हथियार समेत इन बातों का रखना होगा ध्यान

मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने कहा कि दो दिन पहले मैंने अपनी अयोध्या यात्रा स्थगित करने के बारे में ट्वीट किया था। मैंने जानबूझकर बयान दिया ताकि सभी को अपनी प्रतिक्रिया देने की अनुमति मिल सके। जो लोग मेरी अयोध्या यात्रा के खिलाफ थे, वे मुझे फंसाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मैंने इस विवाद में नहीं पड़ने का फैसला किया। जब मैंने अपने कार्यकर्ताओं को लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा बजाने के लिए कहा, तो राणा दंपत्ति (रवि और नवनीत राणा) ने कहा कि वे मातोश्री में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। क्या मातोश्री एक मस्जिद है? बाद में शिवसैनिकों और राणा दंपत्ति के बीच क्या हुआ, यह तो सभी जानते हैं।

इसे भी पढ़ें: दाऊद से संबंधित मंत्री के साथ काम करना चाहते हैं उद्धव, फडणवीस ने मलिक के बहाने महाराष्ट्र सरकार पर साधा निशाना

पुणे की रैली को संबोधित करते हुए राज ठाकरे ने कहा कि, क्या शिवसेना ये तय करेगी कि असली और नकली हिंदुत्व क्या है। उत्तर भारतीयों के अपमान के आरोप पर उन्होंने कहा कि, हमारा आंदोलन इसलिए था कि लोगों को अपने राज्य में ही नौकरी मिले। अब हमसे माफी मांगने की बात क्यों कही जा रही है। हमने पाकिस्तानी कलाकारों को मुंबई से बाहर निकालने का काम किया। आपने कौन सा आंदोलन किया? 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़