शाह को PK की चुनौती, कहा- परवाह नहीं तो CAA-NRC की क्रोनोलॉजी पर बढ़ें आगे

शाह को PK की चुनौती, कहा- परवाह नहीं तो CAA-NRC की क्रोनोलॉजी पर बढ़ें आगे

नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर जनता दल यूनाइटेड के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने गृह मंत्री अमित शाह को चुनौती दी है। प्रशांत किशोर ने कहा कि यदि वो विरोध की परवाह नहीं करते हैं तो सीएए और एनआरसी लागू करने के लिए आगे बढ़ें।

नयी दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर जनता दल यूनाइटेड के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने गृह मंत्री अमित शाह को चुनौती दी है। प्रशांत किशोर ने कहा कि यदि वो विरोध की परवाह नहीं करते हैं तो सीएए और एनआरसी लागू करने के लिए आगे बढ़ें। आपको जानकारी दे दें कि गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को विरोधियों पर निशाना साधते हुए उन्हें चुनौती दी कि जिसको विरोध करना है करे लेकिन सीएए वापस नहीं होने वाला है।

इसे भी पढ़ें: अमित शाह ने डंके की चोट पर कहा- जिसे विरोध करना है करे, पर वापस नहीं होने वाला CAA

अमित शाह के इस बयान के बाद प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया कि नागरिकों की असहमति को खारिज करना किसी भी सरकार की ताकत को नहीं दर्शाता है। अमित शाह जी अगर आप CAA-NRC का विरोध करने वालों की परवाह नहीं करते हैं तो फिर आप इस कानून पर आगे क्यों नहीं बढ़ते हैं। आप कानून को उसी तरह लागू करें जैसे की आपने देश को इसकी क्रोनोलॉजी समझाई थी।

इसे भी पढ़ें: NRC पर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री अलग-अलग बात बोल रहे हैं: गहलोत

गौरतलब है कि मंगलवार को लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में अमित शाह ने रैली की थी। जहां पर उन्होंने कहा था कि इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है। मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो। यदि ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...