युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों ने कंगना के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2021   07:22
युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों ने कंगना के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई

आरोप लगाया है कि कंगना की हालिया टिप्पणियां ‘राजद्रोह’ के दायरे में आती हैं।पांडे के अनुसार, उनकी ओर से यह शिकायत संसद मार्ग थाने में दर्ज कराई गई है।

नयी दिल्ली|  कांग्रेस की युवा इकाई के राष्ट्रीय सचिव अमरीश रंजन पांडे और संगठन के विधि प्रकोष्ठ के सह-समन्वयक अंबुज दीक्षित ने अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है

आरोप लगाया है कि कंगना की हालिया टिप्पणियां ‘राजद्रोह’ के दायरे में आती हैं।पांडे के अनुसार, उनकी ओर से यह शिकायत संसद मार्ग थाने में दर्ज कराई गई है।

इस बीच, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी सिखों के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी करने को लेकर कंगना पर निशाना साधा और कहा कि सरकार को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के मंत्री ने कंगना को बताया ‘नाचनेवाली’, कहा-उनके बयान पर ध्यान देने की जरूरत नहीं

 

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘कंगना को या तो मानसिक रोग अस्पताल भेजा जाए या फिर जेल भेजा जाए।’’ कंगना ने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की घोषणा के बाद अप्रसन्नता जताई थी।

कंगना ने सरकार के इस कदम की सराहना करने वाले एक सोशल मीडिया उपयोगकर्ता को जवाब देते हुए लिखा, ‘‘ यदि सड़क पर लोगों ने कानून बनाना शुरू कर दिया है और निर्वाचित सरकार संसद में यह कार्य नहीं करे, तब फिर यह एक जिहादी राष्ट्र है...उन सभी को बधाई जो इसे पसंद करते हैं।’’

पांडे ने अपनी शिकायत में कहा है, कंगना रनौत एक प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं और इंस्टाग्राम पर उनके 78 लाख से अधिक लोग फॉलोअर हैं। इसलिए, उनके जानबूझकर किये गए, गैर-जिम्मेदाराना और राजद्रोहात्मक पोस्ट में भारतीय गणराज्य के प्रति घृणा, अवमानना और वैमनस्य भड़काने की क्षमता है।’’

पांडे के अनुसार, अभिनेत्री के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 124 ए (राजद्रोह),धारा 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान) और धारा 505 (सार्वजनिक शरारत करने वाले बयान) के तहत प्राथमिकी दर्ज करने के लिए शिकायत दर्ज कराई गई है।

इसे भी पढ़ें: मैं कंगना रनौत के बयान से सहमत नहीं हूं: वाजपेयी





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...