IOA और CGF प्रमुख की 14 नवंबर को दिल्ली में बैठक, निशानेबाजी पर होगी चर्चा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 23, 2019   17:30
IOA और CGF प्रमुख की 14 नवंबर को दिल्ली में बैठक, निशानेबाजी पर होगी चर्चा

आईओए प्रमुख ने अपने पत्र में लिखा है कि आपने जैसा कि 21 सितंबर 2019 के अपने पत्र में लिखा है, हम 14 नवंबर 2019 को दिल्ली में बैठक करने के लिये तैयार हैं। सीजीएफ प्रमुख ने बत्रा के नये ईमेल का अभी तक जवाब नहीं दिया है लेकिन पूरी संभावना है कि बैठक 14 नवंबर को ही होगी क्योंकि मार्टिन ने पूर्व में संकेत दिये थे कि बैठक 11 नवंबर से 18 नवंबर के बीच हो सकती है।

नयी दिल्ली। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा और राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) प्रमुख लुई मार्टिन के बीच 14 नवंबर को यहां बैठक हो सकती है जिसमें बर्मिघम में 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों से निशानेबाजी को हटाये जाने पर भारत की आपत्ति पर चर्चा होगी। मार्टिन ने 21 सितंबर को लिखे पत्र में आईओए और सीजीएफ के शीर्ष अधिकारियों के बीच बैठक का सुझाव दिया था जिसके जवाब में बत्रा ने कहा है कि इसके लिये सबसे उपयुक्त समय 14 नवंबर रहेगा। 

इसे भी पढ़ें: PGA Tour: अर्जुन अटवाल ने 69 का कार्ड खेला, संयुक्त 56वें स्थान पर बने

आईओए प्रमुख ने अपने पत्र में लिखा है कि आपने जैसा कि 21 सितंबर 2019 के अपने पत्र में लिखा है, हम 14 नवंबर 2019 को दिल्ली में बैठक करने के लिये तैयार हैं। सीजीएफ प्रमुख ने बत्रा के नये ईमेल का अभी तक जवाब नहीं दिया है लेकिन पूरी संभावना है कि बैठक 14 नवंबर को ही होगी क्योंकि मार्टिन ने पूर्व में संकेत दिये थे कि बैठक 11 नवंबर से 18 नवंबर के बीच हो सकती है। मार्टिन के साथ सीजीएफ के मुख्य कार्यकारी डेविड ग्रेवमबर्ग भी बैठक में हिस्सा लेंगे जबकि आईओए महासचिव राजीव मेहता भी इसमें उपस्थित रहेंगे। सीजीएफ प्रमुख के खेल मंत्री कीरेन रीजीजू से भी मिलने की संभावना है। 

इसे भी पढ़ें: अदिति अशोक ने 70 का कार्ड खेला, संयुक्त 29वें स्थान पर बनी

इससे पहले मार्टिन ने 29 जुलाई को बत्रा को लिखे गये अपने पत्र में भारत के अपने प्रस्तावित दौर के तीन मुख्य कारण बताये थे लेकिन उन्होंने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022 से निशानेबाजी को हटाये जाने के सीजीएफ के फैसले को वापस लेने पर चर्चा का सीधे तौर पर जिक्र नहीं किया था। आईओए ने जुलाई में खेलों के बहिष्कार की धमकी दी थी लेकिन सीजीएफ अधिकारियों ने कहा था कि फैसले को बदलने के लिये अब काफी देर हो चुकी है। यहां तक कि प्रतियोगिता के कार्यक्रम को रवांडा में तीन सितंबर को हुई सीजीएफ की आम सभा में मंजूरी भी दे दी गयी है। आईओए ने विरोधस्वरूप इसका बहिष्कार किया था। बत्रा ने कहा कि मार्टिन और ग्रेवमबर्ग के साथ मेहता मुंबई और बेंगलुरू दौरे पर जाएंगे। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।