2028 ओलंपिक में टॉप 10 में रहना मुश्किल पर असंभव नहीं : रीजीजू

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2020   17:59
2028 ओलंपिक में टॉप 10 में रहना मुश्किल पर असंभव नहीं : रीजीजू

रीजीजू ने कहा कि 2028 ओलंपिक के लिये प्रतिभा तलाशने का काम शुरू हो चुका है और देशव्यापी लॉकडाउन उठने के बाद प्रक्रिया तेज हो जायेगी। उन्होंने टेबल टेनिस कोचों के साथ एक आनलाइन सत्र में कहा ,‘‘हमने 2028 ओलंपिक की पदक तालिका में भारत को शीर्ष 10 में देखने का लक्ष्य रखा है।यह मुश्किल है लेकिन असंभव नहीं है।’’

नयी दिल्ली। खेलमंत्री किरेन रीजीजू ने बुधवार को कहा कि 2028 ओलंपिक में पदक तालिका में शीर्ष दस में रहना मुश्किल लक्ष्य है लेकिन असंभव नहीं और सरकार ने इसे हासिल करने के लिये प्रयास शुरू कर दिये हैं। रीजीजू ने कहा कि 2028 ओलंपिक के लिये प्रतिभा तलाशने का काम शुरू हो चुका है और देशव्यापी लॉकडाउन उठने के बाद प्रक्रिया तेज हो जायेगी। उन्होंने टेबल टेनिस कोचों के साथ एक आनलाइन सत्र में कहा ,‘‘ हमने 2028 ओलंपिक की पदक तालिका में भारत को शीर्ष 10 में देखने का लक्ष्य रखा है।यह मुश्किल है लेकिन असंभव नहीं है।’’

इसे भी पढ़ें: पुरानी यादों के जाल में आज भी फंसे हैं अजमल, 2011 वर्ल्ड कप को भूल ही नहीं पा रहे

उन्होंने कहा ,‘‘ कोरोना महामारी से उबरने के बाद हम विशेष टीमें बनायेंगे और हर खेल के लिये बनने वाली टीमों में मौजूदा और अनुभवी कोच और खिलाड़ी होंगे। ये टीमें देश के हर जिले में जाकर प्रतिभायें तलाशेंगी। हमारे पास आठ साल है और मुझे यकीन है कि मौजूदा नीतियों के तहत भारत शीर्ष दस में होगा।’’ इस आनलाइन सत्र में भारत के पूर्व खिलाड़ी कमलेश मेहता , भारतीय टेबल टेनिस महासंघ के सचिव एम पी सिंह ने भी भाग लिया। इसका संचालन भारत के पूर्व इतालवी कोच मास्सिमो कोंस्टेंटिनी ने किया। रीजीजू ने कहा ,‘‘ भारत के लिये 2018 टेबल टेनिस में यादगार साल रहा जिसमें हमने एशियाई खेलों में दो कांस्य पदक जीते। हम अगर वहां जीत सकते हैं तो ओलंपिक में भी जीत सकते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।