धोनी और रोहित ने 46वें ओवर में शंकर को गेंद देने से रोका था: कोहली

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 6 2019 9:21AM
धोनी और रोहित ने 46वें ओवर में शंकर को गेंद देने से रोका था: कोहली
Image Source: Google

मैन ऑफ द मैच कोहली ने 120 गेंद में 116 रन की पारी खेली जबकि जसप्रीत और शंकर ने डेथ ओवरों में शानदर गेंदबाजी की जिससे भारत ने यह मैच आठ रन से जीता।

नागपुर। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय मैच में शतकीय पारी खेलने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को यहां कहा कि वह 46वें ओवर में विजय शंकर को गेंद सौंपना चाहते थे लेकिन पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और उपकप्तान रोहित शर्मा ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया। मैन ऑफ द मैच कोहली ने 120 गेंद में 116 रन की पारी खेली जबकि जसप्रीत और शंकर ने डेथ ओवरों में शानदर गेंदबाजी की जिससे भारत ने यह मैच आठ रन से जीता। शंकर ने न सिर्फ अंतिम ओवर की पहली तीन गेंदों पर दो विकेट लिये। 

कोहली ने मैच के बाद कहा कि मैं ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी के दौरान 46वां ओवर शंकर को देने के बारे में सोच रहा था लेकिन धोनी और रोहित ने मुझे जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के साथ गेंदबाजी जारी रखने की सलाह दी। उनका सोचना था कि अगर हम कुछ विकेट निकाल लेते है तो मैच में बने रहेंगे और ऐसा ही हुआ। शंकर ने स्टंप्स की सीध में गेंदबाजी की और यह काम आया। रोहित से सलाह लेना हमेशा अच्छा रहता है वह टीम का उप-कप्तान है और धोनी लंबे समय से यह काम करते आ रहे है।

इसे भी पढ़ें: रोमांचक मुकाबले में भारत की 500वीं ODI जीत, गेंदबाजों ने उड़ाई ऑस्ट्रेलिया की गिल्ली

भारतीय कप्तान ने आखिरी के ओवरों में शानदार गेंदबाजी के दम पर मैच में टीम की वापसी करने वाले बुमराह की तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘बुमराह चैम्पियन गेंदबाज है। एक ओवर में दो विकेट लेकर उसने मैच का रूख हमारे तरफ मोड़ दिया। ऐसे मैचों से आपको काफी आत्मविश्वास मिलता है। विश्व कप में भी हमें ऐसे कम स्कोर वाले मैच मिल सकते है। यह पिच केदार जाधव की गेंदबाजी के लिए सटीक थी। वह आखिरी ओवर में भी गेंदबाजी करना चाहता है।’

एकदिवसीय क्रिकेट में 40वां शतक लगाने वाले कोहली ने कहा, ‘यह सिर्फ संख्या है। लेकिन जब आप मैच जीतते है तो अच्छा लगता है। जब मैं बल्लेबाजी के लिए उतरा तो हालात मुश्किल थे। मेरे पास पूरी पारी में बल्लेबाजी करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। मुझे टीम की गेंदबाजी से ज्यादा खुशी मिली है।’ ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने मार्कस स्टोइनिस कि तारीफ करते हुए कहा कि यह ऐसा मैच था जिसे टीम आखिर तक ले जाना चाहती थी। उन्होंने कहा, ‘यह ऐसा मैच था जिसे हम आखिर तक ले जाना चाहते थे और उम्मीद कर रहे थे कि जीत दर्ज करे। मार्कस स्टोइनिस ने शानदार पारी खेली। मैच में पूरे दिन उतार-चढ़ाव होता रहा। मैच का लय एक समय हमारे पक्ष में था लेकिन हमने इसे खो दिया।’



इसे भी पढ़ें: विराट कोहली ने अपने करियर का 40वां वनडे शतक लगाया

फिंच ने टीम को मैच में बनाये रखने का श्रेय स्टोइनिस को देते हुए कहा, ‘अगर वह पहले ही बड़े शाट लगाने के चक्कर में आउट हो जाते तो हम लक्ष्य के इतने करीब नहीं पहुंचते। हमारे खिलाड़ियों को अच्छी शुरूआत मिली लेकिन हम उसे बड़ी पारी में नहीं बदल सके जैसा उन्होंने (कोहली) ने किया। विराट (कोहली) की पारी ने दोनों टीम के बीच अंतर पैदा किया। अगर हमारे शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों ने 80-100 की पारी खेली होती तो हम जीत सकते थे।’

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video