सुषमा स्वराज के निधन के बाद रोशन खानदान की इस हस्ति ने भी दुनिया को कहा अलविदा!

By रेनू तिवारी | Publish Date: Aug 7 2019 11:46AM
सुषमा स्वराज के निधन के बाद रोशन खानदान की इस हस्ति ने भी दुनिया को कहा अलविदा!
Image Source: Google

दीपक पाराशर सोशल मीडिया पर लिखा कि मेरे सबसे प्यारे चाचा "श्री जे ओम प्रकाश" का निधन लगभग एक घंटे पहले हुआ था, इसलिए वह दुखी हो गए क्योंकि वह अपने दोस्त, मेरे मामाजी "श्री मोहन कुमार" से स्वर्ग में जुड़ गए!

सुषमा स्वराज के निधन की खबर पर जहां पूरा देश अभी भी सन्न है, वहीं बॉलीवुड से आज सुबह एक और बुरी खबर सामने आई। बॉलीवुड फिल्मकार और अभिनेता ऋतिक रोशन के दादा, जे ओम प्रकाश ने बुधवार सुबह मुंबई में अपनी आखिरी सास ली। अभिनेता दीपक पाराशर ने शोक समाचार साझा करते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर उनकी मौत की पुष्टि की।

इसे भी पढ़ें: लव रंजन की फिल्म में रणबीर कपूर के साथ काम नहीं करेंगी दीपिका पादुकोण!

दीपक पाराशर सोशल मीडिया पर लिखा कि मेरे सबसे प्यारे चाचा "श्री जे ओम प्रकाश" का निधन लगभग एक घंटे पहले हुआ था, इसलिए वह दुखी हो गए क्योंकि वह अपने दोस्त, मेरे मामाजी "श्री मोहन कुमार" से स्वर्ग में जुड़ गए! भारतीय सिनेमा में उनका योगदान एक उपहार है जो वे हमारे लिए छोड़ गए हैं! कुछ महीने पहले जब मैं उन्हें देखने गया था, तब यह तस्वीर खींची! शांति!

फिल्म एक्जीबिटर अक्षय राठी ने ट्वीट कर लिखा- दिग्गज फिल्म मेकर जे ओम प्रकाश का आज सुबह निधन हो गया. भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। उनके परिवार को ये सहन करने की शक्ति दे। राकेश रोशन और ऋतिक रोशन को मेरी सांत्वना।
 
जे ओम प्रकाश हिन्दी फ़िल्मों के एक निर्देशक थे। उनका जन्म 24 जनवरी, 1927 में हुआ था। 93 वर्षीय फिल्म निर्देशक ने आप की कसम (1974), आखिरी कवन जैसी फिल्में थीं? (1985), उन्होंने जीतेन्द्र लो (1982), अपनापन (1977), आशा (1980), अर्पण (1983), आदम खिलोना है (1993) में जीतेन्द्र के साथ भी काम किया। उन्हें बॉक्स ऑफिस पर हिट फिल्मों के निर्माण के लिए भी जाना जाता है, जैसे आयी मिलन की बेला (1964), आस का पंची (1961), आए दिन बहार के (1966), आंखें आंखें में, आउर सावन झूम के (1969) और आखीर क्यूं अपने श्रेय के लिए।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप