'मां काली' के हाथ में सिगरेट और LGBT का झंडा, आखिर क्यों हिंदू-देवी देवताओं को सिनेमा करता है टारगेट | Kaali Poster Controversy

hurting Hindu sentiments with poster of Kaali
Kaali poster
रेनू तिवारी । Jul 04, 2022 3:30PM
भारतीय फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलई द्वारा अभिनीत डॉक्यूमेंट्री फिल्म के पोस्टर को हिंदू देवी काली का "अपमान" करने के लिए सोशस मीडिया पर गंभीर प्रतिक्रिया मिल रही है। इसे कनाडा के आगा खान संग्रहालय में लॉन्च किया गया था। पोस्टर में देवी काली की वेशभूषा में एक महिला को दिखाया गया है।

हिंदू-देवी देवताओं का मजाक उड़ाकर फिल्म का प्रचार करना मानो सिनेमा का चलन ही हो गया है। फिल्म पीके में भगवान शिव का मजाक बनाया गया, अनुष्का शर्मा की फिल्म पाताललोक में एक कुतिया का नाम सावित्री रखा गया, सैफ अली खान की वेब सीरीज तांडव में तो हिंदू धर्म का जमकर उपहास किया गया। लोगों ने इसका विरोध किया, सोशल मीडिया पर फिल्में ट्रेंड होने लगी और फ्लॉप कहानी होने के बाद भी फिल्में और वेब सीरीजें हिट होती चली गयी। वहीं दूसरी तरफ नुपूर शर्मा के एक कमेंट को लेकर देश में निर्मम हत्याएं हो रही है, उदयपुर में धर्म के नाम पर जित तरह से दहशतगर्दों ने दर्जी की सरेआम हत्या की, वह किसी की भी रूह कंपा सकते उपद्रवियों ने देश को आग के हवाले कर दिया है ऐसे महौल में लोगों की भावनाओं को और आहत करने के लिए फिल्म प्रोड्यूसर लीना मणिमेकलाई ने आग में पेट्रोल डालने का काम करने हुए अपनी नयी डॉक्यूमेंट्री फिल्म 'काली' का पोस्टर रिलीज किया है। फिल्म टाइटल के कुछ वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: प्रिंटेड मोनोकनी बिकिनी पहनकर इंटरनेट पर छाई Elli AvrRam, Zoom कर के तस्वीरें देखने को मजबूर हुए लोग

एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म के पोस्टर में हिंदू देवी मां काली को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है। पोस्टर ने रिलीज होते ही सोशल मीडिया के एक बड़े हिस्से में आक्रोश फैला दिया है। कई लोग फिल्म निर्माता की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। भारतीय फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलई द्वारा अभिनीत डॉक्यूमेंट्री फिल्म के पोस्टर को हिंदू देवी काली का "अपमान" करने के लिए सोशस मीडिया पर गंभीर प्रतिक्रिया मिल रही है। इसे कनाडा के आगा खान संग्रहालय में लॉन्च किया गया था। पोस्टर में देवी काली की वेशभूषा में एक महिला को दिखाया गया है। फोटो में वह सिगरेट पीते हुए नजर आ रही हैं. त्रिशूल (त्रिशूल), और दरांती के अपने सामान्य पहनावे के साथ, देवी की भूमिका निभाने वाली अभिनेत्री को LGBTQ+ समुदाय के ध्वज को लहराते हुए दिखाया गया है। फिल्म कॉन्सेप्ट LGBTQ समुदाय से जुड़ा है लेकिन फिल्म के पोस्टर में काली मां के रूप को कलंकित करके दिखाया गया है। इस कारण हिंदू धर्म के लोग काफी ज्यादा आहत हुए हैं और फिल्म की निर्मा ता को गिरफ्तार करने की मांग की जा रही हैं।

इसे भी पढ़ें: बॉयफ्रेंड के पैसों पर मौज कर रही हैं Rakhi Sawant, पहले महंगी गाड़ी अब दुबई में 10 अपार्टमेंट खरीदने का है प्लान

फिल्म की निर्माता लीना मणिमेकलई ने लोगों से फिल्म की निंदा करने से पहले इसे देखने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि फिल्म उन घटनाओं के बारे में बात करती है जब काली शाम को दिखाई देती है और टोरंटो की सड़कों पर टहलती है। एक बार जब आप फिल्म देख लेंगे, तो आप #ArrestLeenaManimekalai से हैशटैग को 'लव यू लीना मणिमेकलई' में बदल देंगे।

काली फिल्म को लेकर हंगामा ऐसे समय में आया है जब निलंबित भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मुहम्मद पर की गई टिप्पणी को लेकर अंतरराष्ट्रीय विवाद हो गया है। इस पंक्ति ने एक भानुमती का पिटारा खोल दिया और इस बात पर बहस छेड़ दी कि ईशनिंदा क्या है और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता क्या है।

अन्य न्यूज़