पुलवामा हमले पर गुस्सा जाहिर करने में शब्द कम पड़ जाते हैं: मनोज वाजपेयी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 16, 2019   19:45
पुलवामा हमले पर गुस्सा जाहिर करने में शब्द कम पड़ जाते हैं: मनोज वाजपेयी

अभिनेता मनोज वाजपेयी ने कहा कि पुलवामा में जो कुछ भी हुआ, वह बहुद दुखद है। मेरी प्रार्थना सैनिकों के परिवारों के साथ है जिन्होंने अपने प्यारे लोगों को खो दिया।

मुंबई। अभिनेता मनोज वाजपेयी ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ एक काफिले पर हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा कि उनके पास अपना क्रोध जाहिर करने के लिए शब्द कम पड़ रहे हैं।  वाजपेयी ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम में संवाददाताओं से कहा, ‘पुलवामा में जो कुछ भी हुआ, वह बहुद दुखद है। मेरी प्रार्थना सैनिकों के परिवारों के साथ है जिन्होंने अपने प्यारे लोगों को खो दिया। उन्होंने जो खोया है, उसकी भरपाई नहीं हो सकती है।'

इसे भी पढ़ें: नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान से प्रेम पड़ा भारी, कपिल के शो से निकाला गया

उन्होंने कहा कि इस जघन्य घटना पर गुस्सा जाहिर करने के लिए हमारे पास शब्द कम पड़ जाएंगे। जहां तक लोगों के गुस्से की बात है तो मैं यह कह सकता हूं सरकार सही फैसला लेगी और हमें सरकार में विश्वास रखना चाहिए और इन परिस्थितियों में उसकी मदद करनी चाहिए। वह ‘सिने ऐंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन’ (सीआईएनटीएए) और ‘48 आवर फिल्म प्रोजेक्ट’ के ‘ऐक्ट फेस्ट 2019‘ के पहले संस्करण में बात कर रहे थे। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए भयानक आतंकी हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए और कई गंभीर रूप से घायल हैं। 

इसे भी पढ़ें: पुलवामा हमले के शहीदों को ऐश्वर्या राय बच्चन ने दी श्रद्धांजलि

अभिनेता रोनित रॉय, जॉनी लीवर और अभिनेत्री सारा अली खान दिव्या दत्ता और रेणुका सहाय ने भी गुस्सा जाहिर किया। सारा ने कहा कि मैं जब कभी ऐसी बुरी घटनाओं के बारे में सुनती हूं, मुझे गुस्सा आता है। मुझे ठेस पहुंचता है, दुख होता है और मैं डर जाती हूं। 'एक्ट फेस्ट’ सीआईएनटीएए और ‘48 आवर फिल्म प्रोजेक्ट’ की ओर से आयोजित दो दिवसीय कार्यक्रम है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।