अमेजन 2025 तक भारत में देगी 10 लाख नौकरियां, इन सेक्टर में मिलेगी जॉब

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 17, 2020   15:41
अमेजन 2025 तक भारत में देगी 10 लाख नौकरियां, इन सेक्टर में मिलेगी जॉब

वैश्विक ई-वाणिज्य कंपनी अमेजन ने कंपनी ने एक बयान में कहा, कि अमेजन की योजना 2025 तक भारत में दस लाख नए रोजगार सृजित करने की है।बयान के अनुसार, इनमें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार दोनों शामिल है। इसमें सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास, मनोरंजन सामग्री निर्माण, खुदरा, लॉजिस्टिक और विनिर्माण इत्यादि सभी क्षेत्रों में रोजगार सृजित होगा।

नयी दिल्ली। वैश्विक ई-वाणिज्य कंपनी अमेजन ने शुक्रवार को कहा कि वह प्रौद्योगिकी, बुनियादी ढांचे और लॉजिस्टिक नेटवर्क में निवेश करेगी। उसकी योजना इसके माध्यम से अगले पांच साल में देश में दस लाख नए रोजगार सृजित करने की है। कंपनी ने कहा कि यह रोजगार पिछले छह साल में उसके निवेश से सृजित हुए सात लाख से अधिक रोजगार से अलग होगा। कंपनी ने एक बयान में कहा, कि अमेजन की योजना 2025 तक भारत में दस लाख नए रोजगार सृजित करने की है।

इसे भी पढ़ें: Vodafone Idea AGR मामले में सुधारात्मक याचिका दायर करने पर कर रही विचार

बयान के अनुसार, इनमें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार दोनों शामिल है। इसमें सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास, मनोरंजन सामग्री निर्माण, खुदरा, लॉजिस्टिक और विनिर्माण इत्यादि सभी क्षेत्रों में रोजगार सृजित होगा। अमेजन डॉट कॉम के प्रमुख जेफ बेजोस ने बुधवार को घोषणा की कि वह भारत में एक अरब डॉलर (7,000 करोड़ रुपये से अधिक) का निवेश करेंगे ताकि लघु एवं मध्यम उद्योगों को ऑनलाइन लाने में मदद की जा सके और कंपनी 2025 तक 10 अरब डॉलर मूल्य के भारत में निर्मित सामान के निर्यात को प्रतिबद्ध है।

इसे भी पढ़ें: सेंसेक्स, निफ्टी में शुरुआती कारोबार में निवेशकों के बीच सावधानी भरा रुख

बेजोस ने कहा कि हम अगले पांच साल में देश में दस लाख नए रोजगार सृजित करने के लिए निवेश कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमें, हमारे कर्मचारियों से अभूतपूर्व योगदान मिला है। हमने हमसे जुड़ने वाले छोटे कारोबारियों की असाधारण रचनात्मकता देखी है और ग्राहकों का अभूतपूर्व सहयोग भी हमें मिला है और अब हम आगे क्या होने वाला है, उसे लेकर रोमांचित हैं।’’भारत में रोजगार सृजन और कौशल विकास पहलों को प्राथमिकता दी गयी है। इसमें 2022 तक शहरी-ग्रामीण क्षेत्र के 40 करोड़ से अधिक लोगों को प्रशिक्षण देना शामिल है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।