जाते-जाते मोदी जी जनता के पैसे से ''Jet'' पर सवार होना चाहते हैं - सुरजेवाला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 20, 2019   15:37
जाते-जाते मोदी जी जनता के पैसे से ''Jet'' पर सवार होना चाहते हैं  - सुरजेवाला

सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘जाते-जाते मोदी जी जेट पर सवार होना चाहते हैं। गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कारपोरेशन डूब गई तो उसे ओएनजीसी को 7700 करोड़ रुपये में बिकवा डाला।

 नयी दिल्ली। संकट से घिरी निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज को प्रोत्साहन पैकेज के प्रस्ताव से जुड़ी खबरों को लेकर कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि जनता की 8500 करोड़ रुपये की गाढ़ी कमाई को लुटाया जा रहा है । पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी सवाल किया कि दिवालिया हो चुकी एक निजी विमानन कंपनी को प्रोत्साहन पैकेज क्यों दिया जा रहा है? कांग्रेस के इस आरोप पर फिलहाल सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

इसे भी पढ़ें: सुरक्षित नहीं है जेट एयरवेज में सफर करना, इंजीनियरों ने बताया प्लेन में है खराबी

सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘जाते-जाते मोदी जी जेट पर सवार होना चाहते हैं। गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कारपोरेशन डूब गई तो उसे ओएनजीसी को 7700 करोड़ रुपये में बिकवा डाला। आईडीबीआई बैंक परेशानी में घिरा तो इसे एलआईसी को नौ हजार करोड़ करोड़ रुपये में बेच दिया। इन दोनों में जनता की 16000 करोड़ रुपये की गाढ़ी कमाई लुटवाने के बाद अब मोदी जी की ओर से 8500 करोड़ रुपये लुटवाने की पेशकश की गई है। उन्होंने दावा किया, ‘‘ मोदी जी एक दिवालिया हो चुकी एयरलाइंस के लिए प्रोत्साहन पैकेज लेकर आए हैं। इस एयरलाइंस में 51 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाले एक एनआरआई उद्योगपति हैं। इसी तरह जेट एयरवेज की 24 फीसदी हिस्सेदारी की मालिक एक विदेशी एयरलाइंस है। यानी इसकी 75 फीसदी स्वामित्व निजी हाथों में हैं।’’

इसे भी पढ़ें: जेट एयरवेज ने किराया नहीं चुका पाने के चलते चार और विमान खड़े किए

उन्होंने कुछ कागजात पेश करते हुए कहा कि इस विमानन कंपनी के खिलाफ वित्तीय अनियमितता के आरोप हैं और इस बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय में शिकायत की गई थी। इसको लेकर पिछले साल दिसंबर में ऑडिट का आदेश भी दिया गया था। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘ रिपोर्ट यह बता रही हैं कि मोदी जी ने आदेश दिया है कि स्टेट बैंक और दूसरे बैंक एक दिवालिया विमानन कंपनी का 8500 करोड़ रुपये का कर्ज एक रुपये की इक्विटी के जरिए ले लेंगे। यानी सरकार एक दिवालिया कंपनी की मालिक बन जाएगी।’’

उन्होंने दावा किया, ‘‘इसके साथ ही यह आदेश दिया गया है कि विदेशी एयरलाइंस की 24 फीसदी हिस्सेदारी 150 रुपये प्रति शेयर की दर से खरीद ली जाए। एक विदेशी कंपनी को बेल आउट पैकेज दिया जाएगा और वह कंपनी भारत का पैसा लेकर चली जाएगी। अब बैंक एक दिवालिया विमानन कंपनी चलाएंगे।’’ सुरजेवाला ने सवाल किया, ‘‘ मोदी सरकार 8500 करोड़ रुपये का प्रोत्साहन पैकेज क्यों दे रही है? क्या मोदी जी का मॉडल यह है कि जो हजारों करोड़ रुपये का कर्ज वापस नहीं करेगा तो उसका कर्ज जनता के पैसे से अदा किया जाएगा?’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।