उत्तर प्रदेश में हर परिवार का बनेगा फैमिली कार्ड, जानिए योगी सरकार का प्लान

CM YOGI
ANI
निधि अविनाश । Aug 23, 2022 3:25PM
यूपी में नया परिवार क्लायण कार्ड बनाया जाएगा।यह कार्ड 12 अंकों का होगा जिसकी मदद से सरकार को परिवारों के बारे में पूरी जानकारी होगी। इससे सरकार आने वाली सभी योजनाओं से लेकर राजगार और नौकरी दिलाने में मदद करेगी।

अंग्रेजी अखबार TOI में छपी खबर के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी की जनता के लिए बड़ी योजना लाने का फैसला किया है। इस योजना के तहत यूपी में नया परिवार क्लायण कार्ड बनाया जाएगा जिसमें राज्य के सभी परिवार की मैपिंग कर एक फैमिली कार्ड तैयार किया जाएगा। यह कार्ड 12 अंकों का होगा जिसकी मदद से सरकार को परिवारों के बारे में पूरी जानकारी होगी। इससे सरकार आने वाली सभी योजनाओं से लेकर राजगार और नौकरी दिलाने में मदद करेगी।

इसे भी पढ़ें: पैगंबर टिप्पणी मामले में घिरी नुपुर शर्मा को मिला राज ठाकरे का साथ, ऐलान करते हुए कहा- मैं उनका समर्थन करता हूं

परिवार क्लयाण कार्ड योजना से हर परिवार को रोजगार देने में मदद किया जाएगा। इसके अलावा सरकार की सभी योजनाओं को भी हर एक परिवार से जोड़ा जाएगा। सरकार के पास हर परिवार का रिकॉर्ड डेटा होगा जिससे फर्जीवाड़ा होने पर भी रोक लगेगी। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय(MEIT) ने आई़डी जारी करने के लिए आधार ऑथेंटिकेशन के इस्तेमाल के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। आवेदन के लिए अगले दो हफ्तों में पोर्टल शुरू होने की उम्मीद की जा रही है।
क्या है एक नौकरी प्रति परिवार
योगी सरकार एक नौकरी प्रति परिवार का एक प्रस्ताव लागू करेगी। मिली जानकारी के मुताबिक, फैमिली कार्ड के बनने के बाद फर्जीवाड़ा बंद हो जाएगा। इससे एक ही परिवार को किसी भी योजवना का लाभ बार-बार मिलने पर भी रोक लगेगी। इस कार्ड के बनने से सरकार के पास आंकड़ा मौजूद रहेगा जिससे पता चल सकेगा कि किस परिवार को नौकरी की जरुरत है। इससे कई लोगों को फायदा होगा और सरकार के विभिन्न योजनाओं से जोड़ा जाएगा। बता दें कि इसके लिए अलग से आवेदन या कोई दस्तावेज की जरूरत नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें: विवादित बयान देने वाले पार्टी विधायक टी राजा सिंह को भाजपा ने किया सस्पेंड, कारण बताओ नोटिस भी जारी

योजना विभाग के सचिव आलोक कुमार ने टीओआई को बताया कि, 'उत्तर प्रदेश में 15 करोड़ आधार वैलिडेटेड राशन कार्ड धारक हैं, जिन्हें तुरंत परिवार आईडी कार्ड जारी किए जा सकते हैं।' राज्य का लगभग 60 फीसदी हिस्सा राशन कार्ड से कवर्ड है। कुमार ने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत प्रत्येक परिवार को एक आईडी दी जाएगी। हालांकि, फिलहाल यह स्वैच्छिक है और सिर्फ किसी सरकारी योजना (Government Scheme) के तहत लाभ प्राप्त करने के इच्छुक लोगों को इसके लिए नामांकन करने की आवश्यकता होगी। शुरुआत में हम आधार कार्ड धारकों के साथ परिवारों के बारे में जानकारी एकत्र करने के लिए राशन कार्ड की जानकारी का उपयोग करेंगे।

अन्य न्यूज़