नए प्रवर्तक मिलने तक जेट एयरवेज के ऋणदाता ले सकते हैं कंपनी में हिस्सेदारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 23, 2019   17:11
नए प्रवर्तक मिलने तक जेट एयरवेज के ऋणदाता ले सकते हैं कंपनी में हिस्सेदारी

भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाला बैंक समूह पिछले पांच महीने से नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के लिए समाधान योजना पर काम कर रहा है।

नयी दिल्ली। कर्ज के बोझ में दबी विमानन कंपनी जेट एयरवेज के ऋणदाता कंपनी के नए प्रवर्तक मिलने तक उसमें अहम हिस्सेदारी ले सकते हैं। इस घटनाक्रम से जुड़े करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि कंपनी का नया प्रवर्तक मिलने में अभी भी दो से तीन महीने का समय लग सकता है। एक बार वह प्रक्रिया पूरी हो जाए तो बैंक इसमें अपनी हिस्सेदारी बेच देंगे।

इसे भी पढ़ें: जाते-जाते मोदी जी जनता के पैसे से ''Jet'' पर सवार होना चाहते हैं - सुरजेवाला

भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाला बैंक समूह पिछले पांच महीने से नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के लिए समाधान योजना पर काम कर रहा है। कंपनी पर करीब 8,200 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है और उसे मार्च के अंत तक 1,700 करोड़ रुपये का पुनर्भुगतान करने की जरूरत है। सूत्रों के अनुसार जेट एयरवेज के ऋणदाता कंपनी में अहम हिस्सेदारी ले सकते हैं। यह नए प्रवर्तकों के आने तक कंपनी को अंतरिम राहत देगा।

इसे भी पढ़ें: जेट एयरवेज ने किराया नहीं चुका पाने के चलते चार और विमान खड़े किए





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।