माइक्रोसाफ्ट इंडिया देश की सबसे आकर्षक नियोक्ता ब्रांड, दूसरेऔर तीसरे नंबर पर रही ये कंपनियां

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   17:10
माइक्रोसाफ्ट इंडिया देश की सबसे आकर्षक नियोक्ता ब्रांड, दूसरेऔर तीसरे नंबर पर रही ये कंपनियां

रैंडस्टैड एम्पलायर ब्रांड रिसर्च (आरईबीआर) 2020 के मुताबिक माइक्रोसॉफ्ट इंडिया को वित्तीय सेहत, मजबूत पहचान और आधुनिक प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करने के मामले में ऊंचे अंक प्राप्त हुये हैं। आरईबीआर ने इस मामले में 33 देशों की 6,136 कंपनियों के 18 से 68 आयुवर्ग के 1,85,000 लोगों के विचार लिये हैं।

नयी दिल्ली। प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी माइक्रोसाफ्ट इंडिया देश की सबसे आकर्षक नियोक्ता ब्रांड बनकर उभरी है।इसके बाद बेहतर नियोक्ता ब्रांड के तौर पर दूसरे नंबर पर सैंमसंग इंडिया और तीसरे पर अमेजॉन इंडिया रही है।एक सर्वेक्षण में यह कहा गया है। रैंडस्टैड एम्पलायर ब्रांड रिसर्च (आरईबीआर) 2020 के मुताबिक माइक्रोसॉफ्ट इंडिया को वित्तीय सेहत, मजबूत पहचान और आधुनिक प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करने के मामले में ऊंचे अंक प्राप्त हुये हैं। आरईबीआर ने इस मामले में 33 देशों की 6,136 कंपनियों के 18 से 68 आयुवर्ग के 1,85,000 लोगों के विचार लिये हैं।आरईबीआर का मानना है कि 2020 में भारतीय कार्यबल के लिये नियोक्ता का चुनाव करते समयकाम- जिंदगी के बीच संतुलन सबसे शीर्ष पर बनकर उभरा है।सर्वेक्षण में भाग लेने वाले 43 प्रतिशत लोगों ने यह कहा।

इसे भी पढ़ें: कोरोना महमारी के बीच ऑफिस जाना सही या गलत? वर्कप्लेस में होंगे ये सारे बदलाव

इसके बाद आकर्षक वेतन और कर्मचारी लाभ को 41 प्रतिशत ने और रोजगार की सुरक्षा के बारे में 40 प्रतिशत लोगों ने नियोक्ता का चुनाव करने में तवज्जो देने की बात कही। रैंडस्टैड इंडिया के प्रबंध निदेशक और सीईओ पॉल डुपुईस ने कहा, ‘‘नियोक्ता ब्रांडिंग एक बदलती प्रक्रिया है जो कि समय के साथ नई और गहरी आंतरिक दृष्टि के साथ आगे बढ़ रही है।इसलिये संगठनों को इसे अपना रणनीतिक कारोबारी एजेंडा बनाना चाहिये।’’ भारत में सबसे आकर्षक नियोक्ताओं में शीर्ष दस स्थान पाने वाली कंपनियों में -इन्फोसिस टैक्नालॉजीज- चौथा स्थान, मर्सिडीज़ बेंज- पांचवे, सोनी- छठे, आईबीएम (सातवें), डेल टैक्नालाजीज लिमिटेड (आठवें), आईटीसी समूह (नौंवें) और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज - दसवें स्थान पर रही। सर्वेक्षण में 69 प्रतिशत ने कहा कि वह पिछले साल अपने नियोक्ता के साथ जुड़े रहे।वहीं 81 प्रतिशत ने इस बात पर सहमति जताई कि कंपनी का फोन मिलना, कार और बच्चों की देखभाल सेवायें और समर्थन दिया जाना, लचीले कामकाज के घंटे भी नियोक्ता चुनने में काफी महत्वपूर्ण हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।