इंडियन मोबाइल कांग्रेस के मौके पर PM मोदी 5G सेवाओं की करेंगे शुरुआत, एयरटेल और Jio भी कर सकते हैं अपने प्लान की घोषणा

5G Service Launch
Prabhasakshi
अभिनय आकाश । Sep 25, 2022 1:56PM
अश्विनी वैष्णव ने कहा कि बहुत जल्द 5G सेवाएं शुरू जाएंगी और आने वाले दो सालों में पूरे देश में 5G सेवाएं देने का लक्ष्य है। इसमें सरकार करीब 35,000 करोड़ रुपए का निवेश करेगी।

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रविवार को एक कार्यक्रम में कहा कि भारत में 5G दूरसंचार सेवाएं बहुत जल्द शुरू की जाएंगी और सरकार का लक्ष्य 2 साल के भीतर पूरे देश को कवर करना होगा। मंत्री ने पहले कहा था कि भारत अक्टूबर तक 5जी सेवाएं शुरू करने की तैयारी कर रहा है। सरकार ने अगस्त के मध्य में दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को स्पेक्ट्रम आवंटन पत्र जारी करते हुए उन्हें 5जी सेवाओं के रोलआउट के लिए तैयार करने के लिए कहा था। इस स्पेक्ट्रम आवंटन के साथ भारत हाई-स्पीड 5G दूरसंचार सेवाओं को शुरू करने के अंतिम चरण में है।

इसे भी पढ़ें: अर्थव्यवस्था पर विपक्ष को बहुत सुना होगा, अब देखिये नारायणमूर्ति, सुनील भारती मित्तल, दीपक पारेख क्या कह रहे हैं

अश्विनी वैष्णव ने कहा कि बहुत जल्द 5G सेवाएं शुरू जाएंगी और आने वाले दो सालों में पूरे देश में 5G सेवाएं देने का लक्ष्य है। इसमें सरकार करीब 35,000 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। वैष्णव के अनुसार इंडियन मोबाइल कांग्रेस के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी 5जी सेवाओं की शुरुआत की घोषणा करेंगे। माना जा रहा है कि एयरटेल और जियो भी इस दौरान अपने प्लान की घोषणा कर सकते हैं। रिलायंस जियो ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वह इस साल दिवाली तक दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई जैसे कई प्रमुख शहरों में हाई-स्पीड 5G टेलीकॉम सेवाएं लॉन्च करेगी। इसके बाद यह 2023 के दिसंबर तक देश भर के प्रत्येक शहर, तहसील और तालुका में अपने 5G नेटवर्क का विस्तार करने का इरादा रखता है, जो अब से लगभग 18 महीने बाद है। 

इसे भी पढ़ें: ब्याज दरों में वृद्धि से वैश्विक बाजारों में बिकवाली,सेंसेक्स 1,020 अंक लुढ़का

5G क्या है और यह वर्तमान 3G और 4G सेवाओं से कैसे भिन्न है?

5G पांचवीं पीढ़ी का मोबाइल नेटवर्क है जो बहुत तेज गति से डेटा के बड़े सेट को प्रसारित करने में सक्षम है। 3G और 4G की तुलना में 5G में बहुत कम विलंबता है जो विभिन्न क्षेत्रों में उपयोगकर्ता के अनुभव को बढ़ाएगी। कम विलंबता न्यूनतम विलंब के साथ बहुत अधिक मात्रा में डेटा संदेशों को संसाधित करने की दक्षता का वर्णन करती है। 5G रोलआउट से खनन, वेयरहाउसिंग, टेलीमेडिसिन और मैन्युफैक्चरिंग जैसे क्षेत्रों में दूरस्थ डेटा निगरानी में और अधिक विकास होने की उम्मीद है।

अन्य न्यूज़