एसबीआई प्रमुख ने कहा कि क्रेडिट ग्रोथ को बनाए रखने के लिए बैंकिंग सिस्टम बेहतर स्थिति में है

SBI
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
एसबीआई के आर्थिक सम्मेलन में खारा ने कहा कि पिछली बार जब कर्ज में ऊंची वृद्धि हुई थी, उसमें से बड़ी संख्या में फंसे कर्ज में तब्दील हुए। बैंकों ने उन चीजों को आत्मसात किया है।

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के चेयरमैन दिनेश कुमार खारा ने बुधवार को कहा कि देश की बैंक व्यवस्था पिछले समय के मुकाबले अभी काफी बेहतर स्थिति में है और यह वर्तमान में कर्ज में उच्च वृद्धि को बनाये रखने में सक्षम होगी। एसबीआई के आर्थिक सम्मेलन में खारा ने कहा कि पिछली बार जब कर्ज में ऊंची वृद्धि हुई थी, उसमें से बड़ी संख्या में फंसे कर्ज में तब्दील हुए। बैंकों ने उन चीजों को आत्मसात किया है। उन्होंने कहा कि कर्ज देने को लेकर जांच-पड़ताल और जोखिम निर्धारण के नजरिये से बैंक काफी बेहतर स्थिति में हैं।

खारा ने कहा कि निर्णय लेने की प्रक्रिया काफी वैज्ञानिक है और अब बैंकों के पास अपेक्षाकृत अधिक पूंजी है। उन्होंने कहा, ‘‘बैंक अब बेहतर स्थिति में हैं और जो वृद्धि हम देख रहे हैं, वह टिकाऊ भी है।’’ उल्लेखनीय है कि बैंक कई साल तक कर्ज में सालाना वृद्धि हासिल करने को लेकर जूझ रहे थे। वहीं चार नवंबर को समाप्त सप्ताह में बैंकों के कर्ज में वृद्धि 17 प्रतिशत रही। खारा ने कहा कि कंपनियों के कर्ज कम हुए हैं जबकि पिछली बार उनके ऊपर काफी ऋण थे। उन्होंने दिवाला संहिता, रेटिंग व्यवस्था और कर्ज ब्यूरो का जिक्र करते हुए कहा कि परिवेश भी बदला है, जिससे बैंकों को लाभ हो रहा है। एसबीआई चेयरमैन यह भी कहा कि देश के बैंक और गिफ्ट सिटी जैसी वैकल्पिक व्यवस्था को आर्थिक वृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़