TCS को लातिन अमेरिका, भारत और दक्षिण अफ्रीका के बाजार में वृद्धि की उम्मीद

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 19 2019 3:47PM
TCS को लातिन अमेरिका, भारत और दक्षिण अफ्रीका के बाजार में वृद्धि की उम्मीद
Image Source: Google

टीसीएस ने वित्त वर्ष 2018-19 की अपनी वार्षिक रपट में विश्वास जताया है कि नयी सेवाओं, उत्पादों और मंचों को पेश करने से यूरोप, जापान, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे बड़े बाजार में उसका विस्तार होगा।

नयी दिल्ली। देश की सबसे बड़ी सूचना-प्रौद्योगिकी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) को आने वाले समय में लातिन अमेरिका, भारत और दक्षिण अफ्रीका जैसे बाजारों में उल्लेखनीय वृद्धि हासिल करने की उम्मीद है। टीसीएस ने वित्त वर्ष 2018-19 की अपनी वार्षिक रपट में विश्वास जताया है कि नयी सेवाओं, उत्पादों और मंचों को पेश करने से यूरोप, जापान, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे बड़े बाजार में उसका विस्तार होगा।

इसे भी पढ़ें: घरेलू कंपनी TCS अधिग्रहण के अवसरों के लिये तैयार

टीसीएस के कारोबार एवं प्रौद्योगिकी सेवाओं के वैश्विक मामलों के प्रमुख कृष्णन रामानुजम ने रपट में कहा है कि हमारे सबसे बड़े बाजारों में भी हमारी हिस्सेदारी एक अंकों में ही है। हम यूरोप, जापान, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसे बड़े बाजारों में अपना आधार बढ़ा रहे हैं। इन बाजारों में विस्तार से आने वाले साल में वृद्धि को गति मिलेगी। 

उन्होंने कहा कि लातिन अमेरिका, भारत और दक्षिण अफ्रीका जैसे उभरते हुए बाजार बीते वर्षों में प्रौद्योगिकी पर खर्च के मामले में पिछड़े रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जतायी कि नवोन्मेष के नये दौर  बिजनेस 4.0  में कारोबार में काफी अधिक बढ़त दर्ज की जाएगी।



इसे भी पढ़ें: TCS का चौथी तिमाही शुद्ध लाभ 17.7% बढ़कर 8,126 करोड़ रहा

पिछले साल टीसीएस ने  बिजनेस 4.0  की शुरुआत की थी। यह कंपनियों की विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के लिए तकनीक के इस्तेमाल से जुड़ी उनकी रणनीति है। टीसीएस की आमदनी में अमेरिका की हिस्सेदारी 53 प्रतिशत और यूरोप की हिस्सेदारी 29.7 फीसदी है। वहीं भारत की हिस्सेदारी महज 5.7 प्रतिशत है। वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी का एकीकृत शुद्ध लाभ 31,562 करोड़ रुपये जबकि आय 1.46 लाख करोड़ रुपये रही थी। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story