सशक्त भारत के लिए प्रतिबद्ध है भाजपा का संकल्प पत्र

By डॉ विजय सोनकर शास्त्री | Publish Date: Apr 9 2019 6:19PM
सशक्त भारत के लिए प्रतिबद्ध है भाजपा का संकल्प पत्र
Image Source: Google

किसानों की आय बढ़ने के लिए मोदी सरकार ने जो उल्लेखनीय कदम अपने पांच साल के दौरान उठाये हैं, उसका लाभ किसानों को मिलना शुरू हो गया हैं। पार्टी का लक्ष्य है कि 2022 तक देश के किसानों की आय को दोगुना किया जाए।

आम चुनाव के लिए भाजपा ने अपना संकल्प पत्र जारी कर दिया है I संकल्प पत्र में एक बार फिर देश के दलितों, गरीबों और वंचित वर्ग के कल्याण के लिए अपनी प्रतिबद्धता दर्शायी है। 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब देश की सत्ता संभाली थी, उसी समय से उनके एजेंडे में दलितों, गरीबों और वंचित वर्ग के समग्र कल्याण का भाव था। अपने भाव को उन्होंने अपनी विकास योजनाओं के माध्यम से जाहिर किया और फिर पूरे पांच साल तक प्रधानमंत्री मोदी ने सबका साथ-सबका विकास का नारा देकर जिस तरह से काम किया, उसके सुखद परिणाम अब दिखने लगे हैं।
 
पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद, फिर से देश में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में नयी सरकार बनने जा रही है। भाजपा ने नयी सरकार के लिए अभी से जो एजेंडा सेट किया है, उस एजेंडे में दलितों, गरीबों और वंचित वर्ग के समग्र कल्याण के साथ ही नए भारत की झलक देखी जा सकती है।
भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में कहा है कि मोदी सरकार अगले पांच साल में गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले परिवारों के कल्याण के लिए ऐसे कदम उठाये जाएंगे, जिससे गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवारों की संख्या का प्रतिशत सिर्फ एक अंक तक पहुंच सके। भाजपा का सपना है कि 2022 तक देश में कोई भी गरीब नहीं रहना चाहिए। साथ ही हर गरीब परिवार को अपना पक्का घर मिल सके। इसके लिए पार्टी अपनी पूरी प्रतिबद्धता से काम करने के लिए समर्पित है।
 
दलित कल्याण के लिए गंभीरता से काम करती आ रही पार्टी ने कहा है कि वह दलित, पिछड़े वर्गों के लिए संवैधानिक रूप से हर लाभ देने के लिए प्रतिबद्ध है और इन वर्गों के शामिल सभी लोगों को सही प्रतिनिधित्व और सामान एवं न्यायपूर्ण अवसर प्रदान किये जाएंगे। साथ ही सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को आर्थिक आधार पर आरक्षण का लाभ देने में यह भी सुनिश्चित किया जायेगा कि दलित और पिछड़ा वर्ग के सभी लोगों को उचित प्रतिनिधित्व मिले।
भाजपा ने श्रमिकों, कारीगरों और छोटे दुकानदारों के कल्याण के लिए सभी कदम उठाने के साथ ही देश के सभी नागरिकों को बिना किसी भेदभाव के सभी लाभ सुनिश्चित करने का वादा किया हैं पार्टी का मानना है कि एक समरस और समतामूलक समाज की स्थापना पार्टी का लक्ष्य है और पार्टी अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए सबका साथ-सबका विकास के मंत्र पर ही काम करती रहेगी।
 
पार्टी की विचारधारा में राष्ट्र प्रथम है। इसीलिए संकल्प पत्र में राष्ट्रीय सुरक्षा पर जोर देते हुए कहा गया है कि सुरक्षा बलों का आधुनिकीकरण के लिए भाजपा सरकार हर समय प्रतिबद्ध है और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जायेगा। आतंकवाद, वामपंथी उग्रवाद को सख्ती से कुचलने के साथ ही जम्मू कश्मीर में पूरी तरह शांति स्थापित करने के लिए धारा-370 और 35ए को समाप्त  करने के लिए हर संभव कदम उठाये जाएंगे और इसका लाभ जम्मू-कश्मीर की जनता को मिलेगा।
 


किसानों की आय बढ़ने के लिए मोदी सरकार ने जो उल्लेखनीय कदम अपने पांच साल के दौरान उठाये हैं, उसका लाभ किसानों को मिलना शुरू हो गया हैं। पार्टी का लक्ष्य है कि 2022 तक देश के किसानों की आय को दोगुना किया जाए। इसके लिए पार्टी ने अपना रोड मैप संकल्प पत्र में प्रस्तुत किया है और अपने रोड मैप को पूरा करने के लिए पार्टी पूरी क्षमता के साथ काम कर भी रही है।
 
भारत को आर्थिक महाशक्ति के रूप में विश्व समुदाय के बीच स्थापित करने के लिए भी पार्टी ने संकल्प पत्र में अपनी इच्छा शक्ति को दर्शाया है। गौर करने लायक तथ्य यह है कि नोटेबंदी और जीएसटी व्यवस्था को लागू करने के बाद भी मोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को विश्व की छठी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित करने में सफलता हासिल की है और अब पार्टी का लक्ष्य आगामी पांच साल में पांच लाख करोड़ डालर वाली अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित करना है। इसके लिए पार्टी ने संकल्प पत्र में अपनी कार्य योजना को पेश किया है। उद्योग, व्यवसाय, कर सुधार, पारदर्शिता सहित अर्थव्यवस्था के सभी पहलू पर पार्टी ने विस्तार से चर्चा की है और पार्टी का मानना है कि वह अपने लक्ष्य को प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हासिल करके ही रहेगी।
भारत की अधोसंरचना, स्वस्थ नागरिक समाज, सुशासन, युवाओं का कल्याण, शिक्षा, महिला सशक्तिकरण, सांस्कृतिक विरासत का उन्नीकरण सहित सशक्त भारत के लिए भाजपा ने अपनी पूरी कार्य योजना को संकल्प पत्र के माध्यम से सामने रखा है। पार्टी का लक्ष्य 2022 तक एक नए भारत का निर्माण करना है और उसके लिए पार्टी अपनी क्षमता के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। अंत में यह कहना गलत नहीं होगा कि लोकलुभावन वादों से जनता को रिझाने और सिर्फ चुनाव जीतने के लिए पार्टी काम नहीं कर रही है।
 
पार्टी एक ऐसे भारत का निर्माण करना चाहती है, जहां कोई गरीब न हो, कोई भूखा न हो, कोई बेरोजगार न हो और न ही किसी के साथ अन्याय हो। ऐसे में पार्टी का संकल्प पत्र जमीनी धरातल की वास्तविकताओं पर केंद्रित है और पार्टी अपने सभी वादों को उसी तरह पूरा करना चाहती है, जिस तरह से पिछले पांच साल के दौरान पार्टी ने अपने वादों को पूरा करने एक सशक्त भारत की नींव का निर्माण किया है।
 
- डॉ विजय सोनकर शास्त्री
पूर्व सांसद एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता 
भारतीय जनता पार्टी
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Story

Related Video