स्टीव स्मिथ फिर चमके, ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे वनडे में भारत को रौंदकर सीरीज जीती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2020   18:19
स्टीव स्मिथ फिर चमके, ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे वनडे में भारत को रौंदकर सीरीज जीती

आस्ट्रेलिया ने स्टीव स्मिथ की 64 गेंद में 104 रन की शतकीय पारी से रनों का पहाड़ खड़ा करके रविवार को यहां दूसरे वनडे में भारत को 51 रन से शिकस्त देकर तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली।

सिडनी। आस्ट्रेलिया ने स्टीव स्मिथ की 64 गेंद में 104 रन की शतकीय पारी से रनों का पहाड़ खड़ा करके रविवार को यहां दूसरे वनडे में भारत को 51 रन से शिकस्त देकर तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली। आस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए स्मिथ के शतक के अलावा चार अर्धशतकीय पारियों से चार विकेट पर 389 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। आस्ट्रेलियाई ‘रन मशीन’ स्मिथ का यह भारत के खिलाफ 50 ओवर के प्रारूप में पांचवां शतक है और उन्होंने श्रृंखला के शुरूआती मैच में सैकड़े के बाद लगातार दूसरा शतक जमाया। पहले वनडे में शतक के लिये उन्होंने 66 गेंद का सामना किया था।

इसे भी पढ़ें: पीठ की सर्जरी के एक साल बाद हार्दिक पांड्या ने की गेंदबाजी, आस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान में उतरे

भारत के लिये 390 रन का लक्ष्य काफी बड़ा साबित हुआ जो कप्तान विराट कोहली (89) और लोकेश राहुल (76) के अर्धशतकों के बावजूद निर्धारित 50 ओवर में नौ विकेट पर 338 रन ही बना सकी। इस बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के लिये फार्म में चल रहे शिखर धवन (30) और मंयक अग्रवाल (28) ने शुरूआत बाउंड्री से की। अग्रवाल ने पहले ही ओवर में दो बार गेंद सीमारेखा के पार करायी जबकि धवन ने मिशेल स्टार्क पर लगातार तीन चौके जमाये। अग्रवाल की शानदार कवर ड्राइव से मेहमान टीम ने 6.1 ओवर में 50 रन का स्कोर पार कर लिया था।

हालांकि तेजी से रन जुटाने के प्रयास में धवन विकेट गंवा बैठे। फिर कोहली उतरे और भारतीय कप्तान ने हमेशा की तरह अपनी 87 गेंद की पारी के दौरान कुछ बेहतरीन शॉट लगाते हुए भारत को लक्ष्य का पीछा करने की दौड़ में बनाये रखा। भारत ने 9-10 रन प्रति ओवर के जरूरी रन रेट को बनाये रखने की कोशिश की। लेकिन तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने आस्ट्रेलिया को सबसे बड़ी सफलता दिलायी जब उनकी गेंद पर मोइजेस हेनरिक्स ने मिडविकेट पर डाइव करते हुए कोहली का कैच लपक लिया। इसके बाद हार्दिक पंड्या क्रीज पर उतरे और इस हरफनमौला ने लोकेश राहुल के साथ मिलकर कुछ बड़े शॉट जमाये। लेकिन इतना ही काफी नहीं था। राहुल अपनी 66 गेंद की पारी के दौरान पांच छक्के और चार चौके जमाकर पवेलियन पहुंच गये। इसके बाद भारतीय टीम की उम्मीद टूट गयी।

आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने अपने 10 ओवर में 67 रन देकर तीन विकेट हासिल किये। स्मिथ की 104 रन की पारी के अलावा विस्फोटक सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने 77 गेंद में 83 रन बनाये जबकि कप्तान आरोन फिंच ने पहले विकेट के लिये 23 ओवर में 142 रन की साझेदारी के दौरान 60 रन का योगदान दिया। मार्नस लाबुशेन और ग्लेन मैक्सवेल की जोड़ी ने इसी आक्रामकता को बरकरार रखते हुए आस्ट्रेलिया को विशाल स्कोर तक पहुंचाया। लाबुशेन ने 70 और बिग हिटर मैक्सवेल ने 29 गेंद में चार छक्के और इतने ही चौके की मदद से नाबाद 63 रन बनाये। स्मिथ ने अपनी 104 रन की पारी के दौरान 14 चौके और दो छक्के जड़े जबकि वार्नर ने सात बार गेंद सीमारेखा के पार करायी और तीन छक्के जड़े, हालांकि वह श्रेयस अय्यर के डीप से सीधे फेंके गये शानदार थ्रो के कारण अपने शतक से चूक गये। स्मिथ ने अपने पारंपरिक अंदाज में खेलते हुए विकेट के चारों ओर शॉट जमाये और भारतीय गेंदबाजी की धज्जियां उड़ायीं।

उन्हें आउट करने के लिये भारत को हरफनमौला हार्दिक पंड्या की मदद लेनी पड़ी जिन्होंने एक साल पहले हुई पीठ की सर्जरी के बाद पहली बार गेंदबाजी की और वह अपने तीसरे ओवर में इस आस्ट्रेलियाई को लुभाकर आउट करने में भी सफल रहे। उनकी गेंद को खेलने के प्रयास में स्मिथ शार्ट थर्ड मैन पर मोहम्मद शमी को कैच दे बैठे। इससे पहले वार्नर ने पहले ही ओवर में शमी की गेंद को बाउंड्री के लिये भेजकर आस्ट्रेलियाई पारी शुरू करायी। उन्होंने अपने अंदाज से बड़ी पारी खेलने के इरादे जाहिर कर दिये थे। श्रृंखला के शुरूआती मैच में काफी रन लुटाने के बाद शीर्ष तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने मेडन ओवर से शुरूआत की और विकेट से अच्छी रफ्तार हासिल की जिस पर अच्छी खासी घास थी।

लेकिन वह जल्द ही लय खो बैठे और आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने धीमी शुरूआत के बाद तेजी पकड़ना शुरू किया। फिंच ने बुमराह की गेंद को बैकवर्ड स्क्वायर लेग की ओर भेजकर अपना पहला चौका जड़ा जबकि गेंदबाज की रफ्तार 146-147 किमी प्रति घंटा थी। युवा नवदीप सैनी को जल्दी ही गेंदबाजी पर लगाया गया और वार्नर ने उनका स्वागत स्क्वायर लेग बाउंड्री पर छक्का लगाकर किया। इन परिस्थितियों में सैनी के कम अनुभव का पूरा फायदा उठाते हुए वार्नर ने उनके ओवर में दो चौके जमाये और फिर पारी के आठवें ओवर में शमी की गेंद का भी यही हाल किया जिससे आस्ट्रेलिया ने 50 रन पूरे कर एक और मजबूत शुरूआत की। आस्ट्रेलिया ने पूरी पारी के दौरान लय बनाये रखी और भारतीय गेंदबाजों ने गर्मी में काफी पसीना बहाया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।