रिद्धिमान साहा को धमकाने का मामला, पत्रकार बोरिया मजूमदार पर BCCI ने लगाया 2 साल का बैन

wridhiman saha
ANI
अंकित सिंह । May 04, 2022 4:27PM
बोरिया मजूमदार प्रतिष्ठित खेल पत्रकार हैं। बीसीसीआई की ओर से सभी राज्य के क्रिकेट एसोसिएशन और अन्य क्लबों को एक चिट्ठी भी लिखी गई है। चिट्ठी में यह भी बताया गया है कि इस खेल पत्रकार को भारत में क्रिकेट के सभी इवेंट से बैन किया गया है। बोरिया मजूमदार किसी भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने पत्रकार बोरिया मजूमदार के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। दरअसल, जाने-माने क्रिकेटर रिद्धिमान साहा ने उन पर कई आरोप लगाए थे। इसी आरोप की जांच बीसीसीआई की ओर से की गई थी। जांच के बाद बीसीसीआई ने बड़ा फैसला लेते हुए बोरिया मजूमदार पर 2 साल का बैन लगाने का फैसला लिया है। इसका मतलब साफ है कि बोरिया मजूमदार अगले 2 साल तक किसी पर घरेलू, नेशनल, इंटरनेशनल क्रिकेट मैच का हिस्सा नहीं ले सकेंगे। इतना ही नहीं, बीसीसीआई इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल से भी इस बात को लेकर आग्रह करेगा कि वह किसी भी आईसीसी इवेंट में इस खेल पत्रकार को एंट्री ना दें।

बोरिया मजूमदार प्रतिष्ठित खेल पत्रकार हैं। बीसीसीआई की ओर से सभी राज्य के क्रिकेट एसोसिएशन और अन्य क्लबों को एक चिट्ठी भी लिखी गई है। चिट्ठी में यह भी बताया गया है कि इस खेल पत्रकार को भारत में क्रिकेट के सभी इवेंट से बैन किया गया है। बोरिया मजूमदार किसी भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी हिस्सा नहीं ले पाएंगे। अपने आदेश में बीसीसीआई ने यह भी कहा है कि अगले 2 सालों तक वह किसी भी खिलाड़ी से संपर्क नहीं रख पाएंगे और ना ही बीसीसीआई से जुड़े किसी भी क्रिकेट संघ या क्लब से उनका संबंध होगा। आपको बता दें कि रिद्धिमान साहा के आरोपों पर बीसीसीआई की ओर से एक जांच कमेटी का गठन किया गया था जिसमें राजीव शुक्ला, अरुण सिंह धूमल, प्रभजीत सिंह भाटिया शामिल थे। दोनों पक्षों को सुनने के बाद कमेटी ने अपना फैसला सुनाया है।

इसे भी पढ़ें: रिद्धिमान साहा को धमकाने वाले पत्रकार पर लगेगा 2 साल का बैन, देश के किसी भी क्रिकेट स्टेडियम में नहीं हो पाएगी एंट्री

क्या था पूरा मामला 

दरअसल, टीम इंडिया से बाहर होने के कुछ दिन बाद रिद्धिमान साहा ने 19 फरवरी 2022 को ट्विटर पर कुछ स्क्रीनशॉट शेयर किए थे। साझा किए गए स्क्रीनशॉट के जरिए रिद्धिमान साहा ने एक पत्रकार के ऊपर बदसलूकी का आरोप लगाया था। यह भी दावा था कि रिद्धिमान साहा को पत्रकार ने धमकाया है। रिद्धिमान साहा की ओर से जब स्क्रीनशॉट साझा किया गया उसके बाद इसको लेकर बवाल शुरू हो गया। बीसीसीआई भी सख्ती दिखाते हुए रिद्धिमान साहा के आरोपों को लेकर एक जांच कमेटी बना दी थी। उसी जांच कमेटी का यह फैसला आया है। 

अन्य न्यूज़