INDvSL: बारिश की भेंट चढ़ सकता है दूसरा टी20 मुकाबला, ऐसा रहने वाला है धर्मशाला का मौसम!

INDvSL: बारिश की भेंट चढ़ सकता है दूसरा टी20 मुकाबला, ऐसा रहने वाला है धर्मशाला का मौसम!
प्रतिरूप फोटो

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 मुकाबले में बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। कहा जा रहा है कि 26 फरवरी दिन शनिवार को हल्की बारिश हो सकती है। इस दौरान तापमान 9 से 10 डिग्री के बीच हो सकता है। जबकि 27 फरवरी को खेले जाने वाले तीसरे टी20 मुकाबले में मौसम साफ रहने वाला है।

धर्मशाला। श्रीलंका के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज का दूसरा मुकाबला बारिश की भेंट चढ़ सकता है। आपको बता दें कि भारतीय टीम बैक-टू-बैक दो मुकाबले धर्मशाला में खेलने वाली है। इससे पहले भारतीय टीम ने गुरुवार को लखनऊ में खेले गए मुकाबले को 62 रन से जीत लिया था। इसके बाद टीम धर्मशाला के लिए रवाना हो गई। जहां पर वो श्रीलंका के खिलाफ अपना दूसरा और तीसरी टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेलने वाली है। 

इसे भी पढ़ें: गांगुली और द्रविड़ पर टिप्पणी कर साहा ने किया नियमों का उल्लंघन, बीसीसीआई मांग सकता है स्पष्टीकरण 

बारिश की भेंट चढ़ सकता है मुकाबला

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 मुकाबले में बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। कहा जा रहा है कि 26 फरवरी दिन शनिवार को हल्की बारिश हो सकती है। इस दौरान तापमान 9 से 10 डिग्री के बीच हो सकता है। जबकि 27 फरवरी को खेले जाने वाले तीसरे टी20 मुकाबले में मौसम साफ रहने वाला है। हालांकि भारतीय टीम के लिए कोई समस्या नहीं है क्योंकि 3 मैचों की सीरीज में टीम 1-0 से बढ़त बनाए हुए है। स्पिनर यजुवेंद्र चहल एक तस्वीर साझा की है, जिसमें मौसम का मिजाज समझा जा सकता है।

भारतीय टीम ने दृष्टिकोण में बदलाव के साथ ही अपने प्रदर्शन को बेहतर किया है। अगर शनिवार को धर्मशाला का मौसम अच्छा रहता है तो भारतीय टीम सीरीज जीतने के इरादे से मैदान में उतरती हुई दिखाई देगी। हालांकि मौसम के बारे में ज्यादा कुछ कह पाना मुश्किल होगा। 

इसे भी पढ़ें: ईशान ने फॉर्म में वापसी का रोहित को दिया श्रेय, कहा- हमेशा हमारी छोटी-छोटी चीजों को लेकर मदद की 

वर्ल्ड कप से पहले फॉर्म में लौटना चाहेगी टीम

ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप से पहले रोहित शर्मा की अगुवाई वाली भारतीय टीम का हर एक खिलाड़ी फॉर्म में लौटना चाहेगा। हालांकि वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेली गई सीरीज में भारतीय टीम का मध्यक्रम भी फॉर्म में दिखाई दिया, जो टीम के लिए एक सकारात्मक बात है। क्योंकि काफी समय से मध्यक्रम को लेकर भारतीय टीम सवालिया निशान पर थी। लेकिन सूर्यकुमार यादव और वेंकटेश अय्यर जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी से टीम को मजबूती मिली है।