अपनी कार चोरों से 'ऐसे' बचाएँ, जानिए कुछ आसान से टिप्स

अपनी कार चोरों से 'ऐसे' बचाएँ, जानिए कुछ आसान से टिप्स

मार्केट में ऐसी तमाम डिवाइसेज हैं, जो आपकी कार को एक्स्ट्रा सिक्योर करती हैं। इनमें टायर लॉक, स्टेरिंग लॉक, गियर लॉक जैसे टूल्स आपकी काफी सहायता करते हैं। जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम भी इसमें काफी सहायता करता है।

क्या आपने अपनी कार की इंश्योरेंस करा रखी है और इसी भरोसे कार चोरी की संभावना के प्रति निश्चिंत हैं?

अगर ऐसा है तो आप यह बात जान लें कि कार चोरी होने के बाद प्राथमिकी दर्ज (f.i.r.) कराना और फिर इंश्योरेंस क्लेम करने का प्रोसेस काफी पेचीदा और झंझट भरा है। कई बार ऐसे भी मामले आए हैं जिसमें इस झंझट से परेशान होकर लोग उम्मीद ही खो देते हैं।

तो ऐसी स्थिति में क्यों ना पहले से ही सावधान रहा जाए, ताकि कार चोरी की संभावना से बचा जा सके। आइए जानते हैं कुछ टिप्स...

इसे भी पढ़ें: कम समय में ऐसे करें माइंड को रिलैक्स ताकि दिमाग रहे फिट

कार के अंदर ना रखें कीमती सामान 

जी हां! कई लोग कार के अंदर सीट पर ही लैपटॉप बैग, पर्स इत्यादि रख देते हैं, जो चोरों को सीधे तौर पर आकर्षित करता है। अगर आपने अपनी कार के अंदर कुछ कीमती सामान रख रखा है तो सावधान हो जाएं और आगे से ऐसा ना करें। अगर मजबूरी में कुछ सामान कार के अन्दर रखना पड़ रहा है तो उसे डिक्की में छिपा कर रखें या ऐसी जगह जहाँ वह सीधा नज़र न आये। इस प्रकार की गलती आपको भारी पड़ सकती है। अगर आपकी कार में सेंटर लॉकिंग है, उसके बावजूद इस तरह का रिस्क ना लें, क्योंकि कार का शीशा तोड़ने में किसी चोर को अधिक समय नहीं लगता है।

ऑथराइज जगह पर ही सर्विस कराएं 

क्या आपने कभी कल्पना की है कि अगर आपकी कार की चाबी का कोई क्लोन बना ले तो क्या होगा? ऐसा अक्सर होता है कि आप किसी मैकेनिक के पास जाते हैं और वहां पर अपनी कार बनने के लिए छोड़ आते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि वह मैकेनिक चोरों के गिरोह से मिला होता है और आपकी कार की डुप्लीकेट चाबी बनाकर उन्हें दे देता है। इसके बाद आप खुद कल्पना कर लें कि क्या हो सकता है?

ऐसे में आवश्यक है कि ऑथराइज्ड जगह पर ही सर्विस कराएं और कार ठीक कराएं। आपातकाल में अगर कभी आपको किसी लोकल मैकेनिक के पास गाड़ी ठीक कराना ही हो, तो अपनी आंखों के सामने ठीक कराएं।

लावारिस की तरह ना छोड़ें कार

जी हां! अगर आपकी कार किसी पार्किंग या ऑफिस स्पेस के बाहर खड़ी रहती है और उसे आप हफ्तों तक चलाते नहीं हैं, उसकी सफाई नहीं करते हैं, तो ऐसी कार चोरों की नजर में आसानी से आ जाती है। चोर इस बात को ताड़ लेते हैं कि उस कार पर किसी का ध्यान नहीं है। ऐसे में उनका काम आसान हो जाता है।

कार को करें एक्स्ट्रा सिक्योर

मार्केट में ऐसी तमाम डिवाइसेज हैं, जो आपकी कार को एक्स्ट्रा सिक्योर करती हैं। इनमें टायर लॉक, स्टेरिंग लॉक, गियर लॉक जैसे टूल्स आपकी काफी सहायता करते हैं। जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम भी इसमें काफी सहायता करता है। हालांकि अगर आप नई कार ले रहे हैं तो कोशिश करें कि उसमें आधुनिक जमाने के तमाम फीचर अवेलेबल हों, जैसे एंटी थेफ्ट, इंजन इमोबिलाइजर, सिक्योरिटी अलार्म, सेंट्रल लॉकिंग इत्यादि।

इसे भी पढ़ें: क्रेडिट कार्ड का उपयोग चतुराई पूर्वक कीजिए, पैसे बचाइए

इंश्योरेंस रिनुअल में ना करें लापरवाही 

जी हां! आप चाहे जितना एडवांस हो जाएँ, लेकिन चोर भी दिन प्रतिदिन शातिर होते जा रहे हैं। खुदा ना खास्ता, आपके साथ दुर्घटना हो ही गयी, तो तत्काल पुलिस रिपोर्ट दर्ज करें और उससे पहले अपने इंश्योरेंस को रिन्यू रखें। बेशक आप की कार पुरानी हो गई हो, किंतु लगातार रिन्यू करने से आप फिक्र से मुक्त रहते हैं। झंझट ही सही, लेकिन बुरे समय पर आपको गाड़ी की वैल्यू इंश्योरेंस कंपनी से मिल जाती है।

इसके अतिरिक्त, कई लोग बैट्री इत्यादि की सुरक्षा के लिए लोहे की अलग से ग्रिप बनवाकर मैनुअल ताले भी लगवाते हैं। हालाँकि, कई लोग इस तरह की चीजों को प्रिफर नहीं ही करते हैं।

- मिथिलेश कुमार सिंह