अमेरिका की तरफ से भी आई पाकिस्तान के लिए बुरी खबर, छिन सकता है गैर-नाटो सहयोगी का दर्जा, संसद में विधेयक पेश

 status of non-NATO ally
creative common
अभिनय आकाश । Jan 18, 2023 1:53PM
अमेरिका के एक सांसद ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में एक प्रमुख गैर-नाटो सहयोगी के रूप में पाकिस्तान की मान्यता समाप्त करने संबंधी एक विधेयक पेश किया है, जिसमें इस्लामाबाद को कुछ शर्तों के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति से वार्षिक प्रमाणीकरण की आवश्यकता का प्रावधान है।

पाकिस्तान के गर्दिशों वाले दिन कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। आर्थिक बदहाली से जूझ रहा पाकिस्तान अपने मुल्क को चलाने के लिए कटोरा लेकर दूसरे देशों से कर्ज मांगता फिर रहा है। वहीं संयुक्त राष्ट्र में उसके आतंक के पालन-पोषण की कलई भी खुल गई और दोस्त चीन ने भी इस बार ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने में पाकिस्तानी आतंकी मक्की को लेकर कोई अड़ंगा नहीं लगाया। अब अमेरिका की तरफ से भी पाकिस्तान के लिए एक बुरी खबर सामने आई है। अमेरिका के एक सांसद ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में एक प्रमुख गैर-नाटो सहयोगी के रूप में पाकिस्तान की मान्यता समाप्त करने संबंधी एक विधेयक पेश किया है, जिसमें इस्लामाबाद को कुछ शर्तों के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति से वार्षिक प्रमाणीकरण की आवश्यकता का प्रावधान है। 

इसे भी पढ़ें: क्यों नरम पड़े चीन के तेवर, क्या पाकिस्तान को दी इस गलती की सजा, UN में इस बार अड़ंगा नहीं डालने की क्या है Inside Story?

9 जनवरी को अमेरिकी संसद में ये बिल कांग्रेसी एंडी बिग्स  की तरफ से पेश किया गया है। बिल को फिलहाल आवश्यक कार्रवाई के लिए विदेश मामलों के मंत्रालय कमिटी के पास भेजा गया है। इसके बाद बिल को अमेरिकी सदन और सीनेट में पारित होने के लिए पेश किया जाएगा अगर दोनों हाउसों से ये बिल पास हो जाता है तो कानून पर हस्ताक्षर के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति के पास इसे भेजा जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: Punjab: बीएसएफ ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास पाकिस्तानी ड्रोन से गिराए गए चीनी हथियार बरामद किए

विधेयक में एक प्रमुख गैर-नाटो सहयोगी के रूप में पाकिस्तान के दर्जे को बनाए रखने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति से इस बात का प्रमाणीकरण जारी किए जाने की मांग की गई है कि पाकिस्तान ने हक्कानी नेटवर्क के सदस्यों को गिरफ्तार करने और उन पर मुकदमा चलाने में प्रगति दिखाई है और उसने हक्कानी नेटवर्क को किसी भी पाकिस्तानी क्षेत्र को पनाहगाह के रूप में इस्तेमाल करने से रोकने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दर्शाने के लिए कदम उठाए हैं।  

अन्य न्यूज़