रूस के खिलाफ यूक्रेन पहुंचा ICJ, हमले को बताया नरसंहार

रूस के खिलाफ यूक्रेन पहुंचा ICJ, हमले को बताया नरसंहार

इसी बीच यूक्रेन के प्राधिकारियों ने कहा कि रूसी सेना देश के दूसरे बड़े शहर खारकीव मे घुस गई है और सड़कों पर लड़ाई चल रही है। खारकीव क्षेत्रीय प्रशासन ओलेह सिनेहुबोव ने रविवार को बताया कि यूक्रेनी सेना शहर में रूसी सैनिकों से लड़ाई लड़ रही है और उन्होंने नागरिकों से घरों से बाहर नहीं निकलने को कहा है।

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है और आज युद्ध का चौथा दिन है। दोनों देशों के बीच समाधान का कोई रास्ता नहीं दिख रहा है। इसी बीच यूक्रेन रूस के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के दर पर पहुंचा है और यूक्रेन के खिलाफ उसकी कार्यवाही के लिए रूस को जवाबदेह ठहराया है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने ट्वीट कर लिखा कि यूक्रेन ने रूस के खिलाफ अपना आवेदन आईसीजे को सौंप दिया है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि रूस को आक्रामकता को सही ठहराने के लिए नरसंहार की धारणा में हेरफेर करने के लिए जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। हम रूस को सैन्य गतिविधि को अब बंद करने का आदेश देने के लिए तत्काल निर्णय का अनुरोध करते हैं और अगले सप्ताह परीक्षण शुरू होने की उम्मीद करते हैं।

 

आपको बता दें कि रूस के खिलाफ यूक्रेन अलग-अलग हथकंडे इस्तेमाल कर रहा है। इससे पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की  ने कहा कि उनके देश पर आक्रमण के चलते रूस को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से बाहर कर दिया जाना चाहिए। रविवार को उन्होंने एक वीडियो संदेश में कहा कि यूक्रेन पर रूस का आक्रमण नरसंहार की दिशा में उठाया गया कदम है। उन्होंने कहा रूस ने बुराई का रास्ता चुना है और दुनिया को उसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से बाहर कर देना चाहिए। आपको बता दें रूस सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्यों में से एक है, जिसके चलते उसके पास प्रस्तावों को वीटो करने की शक्ति है।

वोलोदिमिर जेलेंस्की कहा कि अंतरराष्ट्रीय युद्ध अपराध अधिकरण को यूक्रेन के शहरों पर रूस के हमलों की जांच करनी चाहिए। उन्होंने रूसी आक्रमण को राज्य प्रायोजित आतंकवाद करार दिया। उन्होंने रूस के इन दावों को झूठा बताया कि वह आम आबादी वाले इलाकों को निशाना नहीं बना रहा। दरअसल इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने 2019 में फैसला सुनाया था कि उसके पास क्रीमिया क्षेत्र के संदर्भ में यूक्रेन और रूस के बीच विवाद सुनने का अधिकार क्षेत्र है।

इसी बीच यूक्रेन के प्राधिकारियों ने कहा कि रूसी सेना देश के दूसरे बड़े शहर खारकीव मे घुस गई है और सड़कों पर लड़ाई चल रही है। खारकीव क्षेत्रीय प्रशासन ओलेह सिनेहुबोव ने रविवार को बताया कि यूक्रेनी सेना शहर में रूसी सैनिकों से लड़ाई लड़ रही है और उन्होंने नागरिकों से घरों से बाहर नहीं निकलने को कहा है। आपको बता दें खारकीव रूसी सीमा से बस 20 किलोमीटर की दूरी पर है और रूसी सैनिक यहां घुस गए हैं। इससे पहले तक वे शहर के बाहरी इलाके में ही थे और उन्होंने शहर में घुसने की कोशिश नहीं की थी।