क्या रूस पर होगा NATO का बड़ा मिलिट्री ऑपरेशन? यूक्रेन के बाद अब रोमानिया के जहाज पर हमला कर दी है खुली चुनौती

क्या रूस पर होगा NATO का बड़ा मिलिट्री ऑपरेशन? यूक्रेन के बाद अब रोमानिया के जहाज पर हमला कर दी है खुली चुनौती

यूक्रेन के बाद रोमनिया पर रूस ने निशाना साधा है। रोमानिया के जहाज पर रूस का बड़ा हमला हुआ है। ब्लैक सी में रोमानिया के जहाज पर हमला किया गया है। जिसके बाद से कहा जा रहा है कि नाटों देशों को ललकारने के लिए रूस की तरफ से ऐसे कदम उठाए जा रहे हैं।

यूक्रेन संकट के बीच नाटो की बैठक शाम के 7:30 बजे से चल रही है। बताया जा रहा है कि रूस पर सैन्य कार्रवाई के पक्ष में नाटो देश हैं। इटली और तुर्की यूक्रेन की सैन्य मदद के लिए तैयार है। उसके बाद 1: 30 संयुक्त राष्ट्र की बैठक भी है। लेकिन इन बैठकों के दौर के बीच  रूस का हमला थमने का नाम नहीं ले रहा है। यूक्रेन के बाद रोमनिया पर रूस ने निशाना साधा है। रोमानिया के जहाज पर रूस का बड़ा हमला हुआ है। ब्लैक सी में रोमानिया के जहाज पर हमला किया गया है। जिसके बाद से कहा जा रहा है कि नाटों देशों को ललकारने के लिए रूस की तरफ से ऐसे कदम उठाए जा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: बंदूक के दम पर अफगानिस्तान पर कब्जा करने वाले तालिबान ने रूस को दी ये सलाह

यूरोप में 14 देश ऐसे हैं जो 1997 के बाद नाटो का हिस्सा बन गए हैं। रूस के इस कदम को यूक्रेन पर न रूकते हुए आगे बढ़ने की दिशा में उठाया जा रहा कदम बताया जा रहा है। रूस के रोमानिया के जहाज पर सीधा हमले का अर्थ है कि रूस ने अब सीधा नाटो के सदस्य देशों को ही ललकार दिया है। अमेरिका के राष्ट्रपति का इसको लेकर बयान भी आया है जिसमें कहा गया है कि रूस को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। 

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन संकट पर हरीश रावत का बड़ा बयान, बोले- सरकार नीतियों को जनता के सामने रखें

गौरतलब है कि बीते दिनों प्रेस कॉनफ्रेंस में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से पूछा गया था कि आप सैन्य कार्रवाई तब करेंगे क्या जब किसी नाटो देश पर हमला किया जाएगा? बाइडेन ने कहा कि वह नाटो देशों की इंचभर भी जमीन की रक्षा करेंगे।  बता दें कि अप्रैल 2004 में रोमानिया का झंडा भी नाटो के हेडक्वाटर में फहराया गया था। जिसके बाद रूस के ये कदम को खुली चुनौती के रूप में देखा जा रहा है। 






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...