‘पुतिन ने रूस को शर्मसार किया’, जी-7 नेताओं ने यूक्रेन पर जारी हमलों को लेकर दिया बयान

‘पुतिन ने रूस को शर्मसार किया’, जी-7 नेताओं ने यूक्रेन पर जारी हमलों को लेकर दिया बयान
Twitter

G7 देशों में अमेरिका, ब्रिटेन कनाडा, जर्मनी, फ्रांस, इटली और जापान ने शामिल हैं। G7 नेताओं ने यूक्रेन के खिलाफ रूस के अवैध सैन्य आक्रमण और नागरिकों और नागरिक बुनियादी ढांचे के खिलाफ अंधाधुंध हमलों की निंदा भी दोहराई।

रविवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और फ्रांस के इमैनुएल मैक्रोन सहित जी-7 के नेताओं ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर ज़ेलेंस्की से वर्चुअल मुलाकात की और कीव के लिए अपना समर्थन दोहराया। इस ऑनलाइन वार्ता के बाद एक संयुक्त बयान में, नेताओं ने कहा कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन पर जारी हमलों ने रूस और वहां के लोगों को शर्मसार कर दिया है। उन्होंने ज़ेलेंस्की को अपनी पूर्ण एकजुटता और यूक्रेन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की साहसी रक्षा के लिए समर्थन का भी आश्वासन दिया।

इसे भी पढ़ें: अचानक यूक्रेन पहुंची अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की पत्नी जिल बाइडन

बताते चले कि G7 देशों में अमेरिका, ब्रिटेन कनाडा, जर्मनी, फ्रांस, इटली और जापान शामिल हैं। G7 नेताओं ने यूक्रेन के खिलाफ रूस के अवैध सैन्य आक्रमण और नागरिकों और नागरिक बुनियादी ढांचे के खिलाफ अंधाधुंध हमलों की निंदा भी दोहराई। उन्होंने कहा, "हम मानवाधिकारों पर हमले और यूक्रेन पर रूस की कार्रवाई से हुए विनाश से स्तब्ध हैं।" 

रूसी तेल आपूर्ति में कटौती 

G7 देशों ने कहा कि रूसी तेल आपूर्ति में कटौती राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की अर्थव्यवस्था पर कड़ी चोट करेगी और उन्हें उस राजस्व से वंचित कर देगी जो उन्हें अपने युद्ध के लिए आवश्यक है"।उन्होंने कहा, "द्वितीय विश्व युद्ध में स्वतंत्रता के लिए लड़ने वाले सभी लोगों की स्मृति के लिए हम इसे आज भी जारी रखने के लिए यूक्रेन, यूरोप और वैश्विक समुदाय के लोगों के लिए ऋणी हैं।" बता दें कि यह बैठक, विशेष रूप से, 9 मई के विजय दिवस से पहले हुई, जब रूस पारंपरिक रूप से 1945 में नाजी जर्मनी की हार का जश्न विशाल सैन्य परेड के साथ मनाता है।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...