ट्रंप प्रशासन सत्ता हस्तांतरण दल को नहीं करा रहा राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी सभी सूचनाएं मुहैया, क्या है कारण?

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 29, 2020   11:01
ट्रंप प्रशासन सत्ता हस्तांतरण दल को नहीं करा रहा राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी सभी सूचनाएं मुहैया, क्या है कारण?

बाइडन ने कहा,‘‘अभी हमें निवर्तमान प्रशासन से महत्वपूर्ण सुरक्षा क्षेत्रों से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी नहीं मिल रही है। मेरा मानना है कि यह गैरजिम्मेदाराना रवैया है।’’उन्होंने आगाह किया कि उनके दल को रक्षा विभाग की बजट प्रक्रिया में ‘‘पूरी पारदर्शिता’’ चाहिएताकि भ्रम उत्पन्न करने वाले उन सभी स्थितियों से बचा जा सके, जिनका विरोधी फायदा उठा सकते हैं।

विलमिंगटन (अमेरिका)।अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा है कि देश के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नेतृत्व वाला प्रशासन राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े अहम क्षेत्रों पर उनके सत्ता हस्तांतरण दल को सभी जानकारियां मुहैया नहीं कर रहा है, जो कि ‘‘गैरजिम्मेदाराना है और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा’’ है। डेलावेयर के विलमिंगटन में बाइडन ने सोमवार को कहा कि उनकी टीम को सत्ता हस्तांतरण के लिए आवश्यक जानकारी हासिल करने में रक्षा मंत्रालय और प्रबंधन एवं बजट कार्यालय में ‘‘राजनीतिक नेतृत्व’’ द्वारा उत्पन्न की गईं ‘‘बाधाओं’’ का सामना करना पड़ रहा है। बाइडन ने कहा, ‘‘ अभी हमें निवर्तमान प्रशासन से महत्वपूर्ण सुरक्षा क्षेत्रों से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी नहीं मिल रही है। मेरा मानना है कि यह गैरजिम्मेदाराना रवैया है।’’ उन्होंने आगाह किया कि उनके दल को रक्षा विभाग की बजट प्रक्रिया में ‘‘पूरी पारदर्शिता’’ चाहिएताकि भ्रम उत्पन्न करने वाले उन सभी स्थितियों से बचा जा सके, जिनका विरोधी फायदा उठा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका की प्रतिनिधि सभा ने रक्षा विधेयक के खिलाफ ट्रंप के वीटो को किया निरस्त

बाइडन को विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री और गृह मंत्री पद के लिए नामित सांसदों तथा भावी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सहित राष्ट्रीय सुरक्षा टीमों के सदस्यों एवं सलाहकारों ने महत्वूपर्ण जानकारी मुहैया कराने कराई थी, जिसके बाद उनका यह बयान आया है। नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ने कहा कि उनकी टीम ने पाया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के दौरान ‘‘ हमारी सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण एजेंसियों को भारी नुकसान हुआ है’’। उन्होंने कहा, ‘‘ इनमें से कई में कर्मियों की कमी हो गई है और उनकी क्षमता तथा मनोबल भी कमजोर पड़ गया है....जो हमारी सरकार के लिए अमेरिकी लोगों की रक्षा करना कठिन बनाता है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।