केरल में कोविड-19 के 13 नये मामले सामने आये, संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 481 हुयी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2020   09:28
केरल में कोविड-19 के 13 नये मामले सामने आये, संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 481 हुयी

अमेरिका से 22 मार्च को वापस लौटी 14 साल की बालिका में भी कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुयी है। मुख्यमंत्री ने बताया कि जिन लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुयी है उनमें से पांच लोग तमिलनाडु के हैं जबकि एक विदेश से आया है और अन्य लोगों में संपर्क में आने से संक्रमण की पुष्टि हुयी है।

तिरूवनंतपुरम। केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के 13 नये मामले आने के साथ ही इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 481 हो गयी है। आज जिन लोगों में इस संक्रमण की पुष्टि हुयी है उनमें अमेरिका से लौटी एक किशोरी भी शामिल है। मुख्यमंत्री पी विजयन ने यहां संवाददाताओं को बताया कि प्रदेश में जो नये मामले सामने आये हैं उनमें कोट्टायम में छह, इडुक्की में चार, पलक्कल, मलप्पुरम एवं कन्नूर में एक एक मामलेहैं। प्रदेश के इडुक्की एवं कोट्टायम में पिछले दो दिनों में मामलों की संख्या बढ़ी है जिसके साथ ही सरकार ने इन दोनों जिलों को रेड जोन में शामिल कर लिया है। इसके साथ ही प्रदेश में अब कुल छह जिले रेड जोन में शामिल किये गये हैं। 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्रियों से बोले PM मोदी- अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देते हुए कोरोना के खिलाफ जारी रखें लड़ाई

अमेरिका से 22 मार्च को वापस लौटी 14 साल की बालिका में भी कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुयी है। मुख्यमंत्री ने बताया कि जिन लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुयी है उनमें से पांच लोग तमिलनाडु के हैं जबकि एक विदेश से आया है और अन्य लोगों में संपर्क में आने से संक्रमण की पुष्टि हुयी है। विजयन ने बताया कि यह स्पष्ट नहीं है कि एक व्यक्ति में कहां से इसका संक्रमण आया है। उन्होंने बताया कि राज्य में 13 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि नहीं हुयी है। प्रदेश में सक्रिय मामलों की संख्या 123 है जबकि 355 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में 23271 नमूने जांच के लिये भेजे जा चुके हैं जिनमें से 22537 में वायरस के संक्रमण की पुष्टि नहीं हुयी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।