ओडिशा में कोरोना के 730 नए मामले, 16 और लोगों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2020   14:01
  • Like
ओडिशा में कोरोना के 730 नए मामले, 16 और लोगों की मौत

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सामने आए नए मामलों में से 419 लोग पृथक केन्द्रों में संक्रमित मिले और 311 लोग पहले से संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आए लोगों की पहचान करते समय संक्रमित पाए गए।

भुवनेश्वर। ओडिशा में कोविड-19 के 730 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमण के मामले बढ़कर 3,16,001 हो गए। वहीं 16 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,687 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सामने आए नए मामलों में से 419 लोग पृथक केन्द्रों में संक्रमित मिले और 311 लोग पहले से संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आए लोगों की पहचान करते समय संक्रमित पाए गए।

अधिकारी ने बताया कि मयूरभंज में सबसे अधिक 68 मामले सामने आए। इसके बाद खुर्दा में 65 और सुंदरगढ़ में 57 मामले सामने आए। सुंदरगढ़ में चार,पुरी में तीन, खुर्दा में दो और अंगुल, बारगढ़, भद्रक, कटक, ढेंकनाल, गंजाम और जाजपुर जिले में एक-एक मरीज की मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि राज्य में अभी 6,887 लोगों का इलाज चल रहा है और 3,07,374 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


इलाहाबाद हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, शादीशुदा होकर भी Live-In-Relationship में रहना अपराध

  •  अंकित सिंह
  •  जनवरी 20, 2021   13:18
  • Like
इलाहाबाद हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, शादीशुदा होकर भी Live-In-Relationship में रहना अपराध

कोर्ट ने साफ तौर पर कहा कि ऐसे मामलों में अदालत संरक्षण नहीं देगा। यह आदेश न्यायमूर्ति एसपी केशरवानी व न्यायमूर्ति डॉ वाईके श्रीवास्तव की खंडपीठ ने हाथरस जिले के निवासी आशा देवी और अरविंद की याचिका को खारिज करते हुए दिया।

शादीशुदा होने के बावजूद क्या आप लिव इन रिलेशनशिप में रह सकते हैं या नहीं, इसको लेकर लगातार चर्चा होती रहती है। इसी मुद्दे से जुड़े एक सुनवाई के दौरान इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला दिया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा कि शादीशुदा होते हुए किसी गैर पुरुष या महिला के साथ रहना लिव इन रिलेशन में रहना अपराध की श्रेणी में आता है। कोर्ट ने साफ तौर पर कहा कि ऐसे मामलों में अदालत संरक्षण नहीं देगा। यह आदेश न्यायमूर्ति एसपी केशरवानी व न्यायमूर्ति डॉ वाईके श्रीवास्तव की खंडपीठ ने हाथरस जिले के निवासी आशा देवी और अरविंद की याचिका को खारिज करते हुए दिया।

इसे भी पढ़ें: न्यायालय समिति कृषि कानून पर उत्पन्न संकट को नहीं सुलझा पाएगी: सुखबीर सिंह बादल

दरअसल आशा देवी का विवाह महेश चंद्र के साथ हुआ था। दोनों के बीच तलाक नहीं हुआ है। लेकिन याची अपने पति से अलग किसी दूसरे पुरुष के साथ पति-पत्नी की तरह रहती हैं। जो पुरुष किसी विवाहित महिला के साथ लिव-इन में रह रहा है वह भारतीय दंड संहिता के 494 और 495 के तहत दोषी करार दिया जा सकता है। धर्म परिवर्तन कर शादीशुदा के साथ पर रहना भी अपराध की श्रेणी में आता है। कोर्ट ऐसा करने वाले लोगों को संरक्षण नहीं देगी। अगर ऐसा किया जाता है तो यह अपराध को संरक्षण देना होगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में पाकिस्तान की गोलीबारी में चार जवान घायल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 20, 2021   13:13
  • Like
जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में पाकिस्तान की गोलीबारी में चार जवान घायल

पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के अग्रिम इलाके को निशाना बनाकर की गयी गोलीबारी में सेना के चार जवान घायल हो गए।

जम्मू। पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के अग्रिम इलाके को निशाना बनाकर की गयी गोलीबारी में सेना के चार जवान घायल हो गए।

इसे भी पढ़ें: अगले महीने खत्म हो जाएगा राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर का प्रतिनिधित्व, जानें आगे क्या होगा?

अधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मंगलवार और बुधवार की दरम्यानी रात एलओसी पार से केरी बट्टल इलाके में गोलीबारी कर संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया गया। सूत्रों ने बताया कि इस घटना में चार जवान घायल हो गए और उन्हें इलाज के लिए उधमपुर में सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


30 जनवरी को सर्वदलीय बैठक, 1 फरवरी को पेश होगा बजट

  •  अभिनय आकाश
  •  जनवरी 20, 2021   13:13
  • Like
30 जनवरी को सर्वदलीय बैठक, 1 फरवरी को पेश होगा बजट

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह दूसरा आम बजट है। संसद के बजट सत्र से पहले संसद के बजट सत्र से पहले 30 जनवरी को एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) की बैठक होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद के बजट सत्र से पहले 30 जनवरी को एक सर्वदलीय बैठक करेंगे। ये बैठक वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी।  बैठक में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, शावरचंद गहलोत, पीयूष गोयल, प्रह्लाद जोशी, अर्जुन मेघवाल और वी मुरलीधरन भी मौजूद रहेंगे। 

इसे भी पढ़ें: संसद कैंटीन में सांसदों को भोजन पर मिलने वाली सब्सिडी समाप्त, सालाना 8 करोड़ रुपए की होगी बचत

1 फरवरी को बजट

संसद का बजट सत्र 29 जनवरी को शुरू होगा और 8 फरवरी तक चलेगा। एक फरवरी को आम बजट पेश किया जाएगा। संसदीय मामलों की समिति ने 29 जनवरी से बजट सत्र की सिफारिश की थी। जिसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बीते दिन संसद सत्र को लेकर जानकारी दी। गौरतलब है कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह दूसरा आम बजट है। संसद के बजट सत्र से पहले संसद के बजट सत्र से पहले 30 जनवरी को एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) की बैठक होगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept