कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले युवक को एडीएम ने मारा थप्पड़

कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले युवक को एडीएम ने मारा थप्पड़

इस पर एडीएम राय ने अपने सुरक्षा कर्मियों से युवक की बात की सत्यता का पता लगाने को कहा। दुकान की तलाशी लेने के बाद सुरक्षाकर्मियों ने राय को बताया कि युवक झूठ बोल रहा है। इस पर राय ने भावावेश में आकर युवक को थप्पड़ मार दिया।

शाजापुर। मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले में कोरोना कर्फ्यू के दौरान शहर का भ्रमण करने निकली एडीएम की कार्रवाई का एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल होकर बवाल कारण बन गया है। विडियो में एडीएम ने कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले दुकानदार को झूठ बोलने पर थप्पड़ मार दिया। जिसके बाद एडीएम के इस थप्पड़ की गूंज जिले से लेकर प्रदेश की राजधानी तक सुनाई दे रही है।

 

इसे भी पढ़ें: कमलनाथ बोले शिवराज सरकार चाहती है कि मैं चुप रहूं लेकिन कोई एफआईआर मुझे दबा नहीं सकती

उल्लेखनीय है कि शाजापुर में कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया है, लेकिन बिमारी के चलते शहर में भारी जनहानि होने के बावजूद लोग नियमों का पालन करने में लापरवाही बरतकर प्रशासन के लिए चुनौती पैदा कर रहे हैं। ऐसे लोगों पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासनिक अधिकारी उन्हें समझाईश देने के साथ सख्त कार्रवाई से सबक भी सीखा रहे हैं किन्तु कभी-कभी भावावेश में अधिकारियों द्वारा लोगों पर की गई मामूली कार्रवाई भी किस तरह अनचाहे बड़े बवाल को जन्म देने का काम कर देती है। 

 

इसे भी पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन के दौरान मोटरसाइकिल चोरी करने वाला चोर पकड़ाया, बीस मोटर साइकिल बरामद

सोमवार को उसका ताजा उदाहरण शाजापुर शहर में देखने को मिला जिसमें एक सामान्य घटनाक्रम को लेकर जिले से प्रदेश की राजधानी तक सियासत गर्मा गई। हुआ यूं कि कोरोना कर्फ्यू में लॉकडाउन की स्थिति को देखने के लिए शाजापुर की एडिशनल कलेक्टर मंजूषा विक्रांत राय नगर भ्रमण पर निकली थी। इस दौरान उन्होंने देखा कि एक युवक दुकान खोलकर बैठा हुआ है। इस पर एडीएम राय ने अपना वाहन रुकवाया और उससे दुकान खोलने का कारण पूछा तो युवक ने बताया कि उसकी दुकान में ही उसका घर है। इस पर एडीएम राय ने अपने सुरक्षा कर्मियों से युवक की बात की सत्यता का पता लगाने को कहा। दुकान की तलाशी लेने के बाद सुरक्षाकर्मियों ने राय को बताया कि युवक झूठ बोल रहा है। इस पर राय ने भावावेश में आकर युवक को थप्पड़ मार दिया।

 

इसे भी पढ़ें: शिवराज सिंह बोले मध्‍य प्रदेश कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को पूरी तरह तैयार

इस घटना का विडियो जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुआ मामले में तेजी से सियासत गर्मा गई और जिला मुख्यालय से लेकर प्रदेश स्तर तक सियासी बयानबाज़ी शुरू हो गई। कांग्रेस ने मुद्दे को भुनाते हुए इसे प्रदेश में अधिकारियों की निरंकुशता बताकर एडीएम के निलंबन की मांग शुरू कर दी है। वहीं इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर भी बुद्धिजीवियों का जबर्दस्त शब्द युद्ध छिड़ गया है जो दो धड़ों में बंटकर अपने तर्कों से घटनाक्रम के सही-गलत का फैसला कर रहे हैं।






नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।