भारी बारिश के बाद चरमराई मुंबई की यातायात व्यवस्था

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 1 2019 7:00PM
भारी बारिश के बाद चरमराई मुंबई की यातायात व्यवस्था
Image Source: Google

सियोन और माटुंगा स्टेशन के बीच रेल पटरियों पर पानी भर आया जिसकी वजह से ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहा। वहीं बीएमसी ने एक ट्वीट में नागरिकों से पानी भरे इलाकों में वाहन नहीं चलाने की अपील की है।

मुंबई। मुंबई में सोमवार सुबह भारी बारिश हुई और इसके बाद शहर में कई स्थानों पर पानी भर गया जिसकी वजह से ट्रैफिक जाम भी हुआ और ट्रेनों की आवाजाही पर भी असर पड़ा।मौसम विभाग ने आसपास के इलाकों ठाणे और पालघर में दो, चार और पांच जुलाई को ‘बेहद भारी बारिश’ की आशंका जाहिर की है। मुंबई में कुछ स्थानों पर सोमवार और मंगलवार को भारी से भारी बारिश हो सकती है। दोपहर में भारी बारिश से राहत तो मिल गई लेकिन सभी लाइनों पर ट्रेन विलंब से चल रही थी। चेम्बुर जैसे कुछ इलाकों में पानी लोगों के घरों के भीतर घुस आया जिसका दोष लोगों ने बृहन्मुंबई महानगरपालिका को दिया।

 
चेम्बुर में रहने वाले एक व्यक्ति पी कृष्णकुमार ने कहा, ‘निकाय प्रशासन ने बारिश के दौरान इस स्थिति से निपटने के बेहतर प्रयास नहीं किए।’’ पुलिस ने बताया कि शहर के 12 स्थानों पर दीवार गिरने की घटनाओं का पता चला। हालांकि किसी के घायल होने की खबर नहीं है। निगम आयुक्त प्रवीण परदेशी ने बताया कि शहर में दो दिनों में 540 मिमी बारिश हुई जो पिछले एक दशक में दो दिन में हुई सबसे ज्यादा बारिश है। परदेशी ने मुंबई के कई स्थानों पर बाढ़ की स्थिति के पीछे जलवायु परिवर्तन और भौगोलिक स्थिति में बदलाव को जिम्मेदार ठहराया।
सियोन और माटुंगा स्टेशन के बीच रेल पटरियों पर पानी भर आया जिसकी वजह से ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहा। वहीं बीएमसी ने एक ट्वीट में नागरिकों से पानी भरे इलाकों में वाहन नहीं चलाने की अपील की है। पश्चिमी रेलवे ने एक ट्वीट में कहा कि मुंबई और उसके आसपास के इलाकों मे हो रही भारी बारिश और ऊंची लहरों को देखते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल स्थिति पर करीबी नजर रख रहे हैं। वहीं एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के बीच हजारों सरकारी और निजी कर्मचारी काम पर नहीं जा सके।



 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video