फास्ट ट्रैक कोर्ट सुनवाई, पोस्टमॉर्टम की डिटेल परिवार को सौंपी जाएगी, CM धामी के आश्वासन के बाद अकंता भंडारी का हुआ अंतिम संस्कार

Akanta Bhandari
ANI
अभिनय आकाश । Sep 25, 2022 6:45PM
अंकिता के पिता और भाई ने शुरू में फाइनल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने तक उसका अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था। किशोरी का शव शनिवार को ऋषिकेश के पास चीला नहर में मिला था।

अंकिता भंडारी के शव को उत्तराखंड की एक नहर से निकाले जाने के एक दिन बाद परिवार ने रविवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया। ऋषिकेश के एक रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के रूप में काम करने वाली 19 वर्षीय लड़की की हत्या कर दी गई थी। भाजपा से निष्कासित नेता के बेटे समेत तीन लोगों को मौत के मामले में गिरफ्तार किया गया है। अंकिता के पिता और भाई ने शुरू में फाइनल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने तक उसका अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था। किशोरी का शव शनिवार को ऋषिकेश के पास चीला नहर में मिला था। इस बीच, उत्तराखंड में 19 वर्षीय बच्ची के लिए न्याय की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी रहा। 

इसे भी पढ़ें: अंकिता हत्याकांड: पिता बोले- हत्यारों को हो फांसी, CM धामी ने दोषियों को सजा दिलाने का लिया संकल्प

इससे पहले मीडिया से बात करते हुए उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने बताया कि मृतक बच्ची के परिजन उसका अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हो गए। सीएम पुष्कर धामी ने कहा कि उत्तराखंड सरकार त्वरित न्याय के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतिम पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट जल्द ही सार्वजनिक की जाएगी। अंकिता के पिता रविवार को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के श्रीनगर शहर के मोर्चरी में अपनी बेटी के शव को दाह संस्कार के लिए लेने पहुंचे। अंकिता भंडारी के पिता के शव को लेने के लिए पहुंचते ही मोर्चरी के बाहर भारी भीड़ जमा हो गई थी। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom: अंकिता भंडारी का शव बरामद, हत्यारे के रिसॉर्ट को उत्तराखण्ड सरकार ने बुलडोजर से ढहाया

उत्तराखंड के श्रीनगर इलाके में रविवार को ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को कई घंटों तक अवरुद्ध करने के साथ ही युवती की मौत को लेकर राज्य भर में विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने अपराध के दोषियों के लिए मौत की सजा की मांग की। इस बीच, 19 वर्षीय रिसॉर्ट रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की कथित हत्या के मामले में मुख्य आरोपी के पिता और भाजपा से निष्कासित नेता विनोद आर्य ने अपने बेटे को "सीधा साधा बालक" बताते हुए उसका बचाव किया। भाजपा के पूर्व नेता विनोद आर्य ने अपने बेटे को निर्दोष बताते हुए कहा कि मेरा बेटा एक साधा बालक है और उसे केवल अपने काम की चिंता है। मैं अपने बेटे पुलकित और हत्या की गई लड़की दोनों के लिए न्याय चाहता हूं। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom: अंकिता भंडारी का शव बरामद, हत्यारे के रिसॉर्ट को उत्तराखण्ड सरकार ने बुलडोजर से ढहाया

इंडिया टुडे ने हत्या के मामले से संबंधित कुछ फोन रिकॉर्डिंग्स को एक्सेस किया। मामले के एक आरोपी अंकित ने कथित तौर पर अंकिता भंडारी के दोस्त से बात की, जो अंकिता फोन बंद होने के बाद उसको लेकर चिंतित था। रिजॉर्ट लौटा आरोपी ने उसे बताया था कि वह भी रिजॉर्ट लौट आई है। 

अन्य न्यूज़