निगम अधिकारी के साथ विजयवर्गीय के बेटे ने की मारपीट, हुआ गिरफ्तार

akash-vijayvargiya-has-been-arrested-for-thrashing-a-municipal-corporation-officer
चश्मदीद लोगों ने बताया कि नगर निगम की टीम गंजी कंपाउंड क्षेत्र में एक जर्जर मकान को ढहाने पहुंची थी। रहवासियों ने इसका विरोध शुरू कर दिया।

इंदौर। जर्जर मकान ढहाने गयी इंदौर नगर निगम की टीम के साथ विवाद के दौरान बुधवार को भाजपा के स्थानीय विधायक आकाश विजयवर्गीय ने शहरी निकाय के एक अफसर को क्रिकेट बैट से पीट दिया। जिसके बाद मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया और उसके कुछ घंटे बाद आकाश विजयवर्गीय को गिरफ्तार कर लिया गया। आकाश, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं। चश्मदीद लोगों ने बताया कि नगर निगम की टीम गंजी कंपाउंड क्षेत्र में एक जर्जर मकान को ढहाने पहुंची थी। रहवासियों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। इस दौरान शहर के क्षेत्र क्रमांक-तीन के भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय भी वहां पहुंच गये और टीम को कथित तौर पर चेतावनी दी कि अगर वह जल्द नहीं लौटी, तो परिणाम के लिये वह खुद जिम्मेदार होगी। 

इसे भी पढ़ें: कैलाश विजयवर्गीय का आरोप, ममता का अहंकार बंगाल के विकास को कर रहा बाधित

उन्होंने बताया कि भारी हंगामे के बीच विजयवर्गीय के समर्थकों ने नगर निगम टीम के साथ लायी गयी अर्थ मूविंग मशीन की चाबी निकाल ली। इस पर विवाद शुरू हो गया। इस दौरान भाजपा विधायक हाथ में क्रिकेट का बैट लेकर आये और मोबाइल फोन से बात कर रहे एक निगम अधिकारी को बैट से पीटना शुरू कर दिया। भाजपा विधायक के समर्थकों ने भी इस अधिकारी से मारपीट और गाली-गलौज की। मौके पर तैनात पुलिस कर्मियों ने बीच-बचाव कर हालात पर काबू पाया। इस घटना के बाद विजयवर्गीय अपने समर्थकों के साथ एमजी रोड पुलिस थाने पहुंच गये। मामले की जानकारी मिलने पर स्थानीय भाजपा नेता भी पुलिस थाने पहुँच गये। 

इसे भी पढ़ें: कैलाश विजयवर्गीय का आरोप, ममता का अहंकार बंगाल के विकास को कर रहा बाधित

इस बीच, अपने सहकर्मी से भाजपा विधायक की मारपीट से गुस्साये नगर निगम कर्मचारियों ने निगम परिसर में काम बंद कर विरोध प्रदर्शन किया। खबर लिखे जाने तक पुलिस ने मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं की थी। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़