15 से 18 नवम्बर तक धर्मशाला में होगा 82वां अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन

15 से 18 नवम्बर   तक धर्मशाला में होगा 82वां अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन

परमार ने कहा कि पीठासीन अधिकारियों के अतिरिक्त वैधानिक समितियों के सचिवों का 58वां सम्मेलन भी 15 नवम्बर को धर्मशाला में आयोजित किया जायेगा। श्री परमार ने कहा कि इस सम्मेलन में सभी राज्यों की विधानसभाओं के पीठासीन अधिकारी भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों की विधान सभाओं के उपाध्यक्ष व प्रधान सचिव सचिव भी भाग लेंगे।

 शिमला।     हिमाचल प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष श्री विपिन सिंह परमार ने कहा है कि जिला कांगडा स्थित धर्मशाला में अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का 82वां सम्मेलन 15 से 18 नवम्बरए2021 तक आयोजित किया जायेगा।   परमार ने कहा कि लोक सभा के  अध्यक्ष एवं अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन के चेयरमैन  ओम बिड़ला ने 82वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन को धर्मशाला में आयोजित करने की अनुमति प्रदान कर दी है।

 

इसे भी पढ़ें: स्वर्गीय रामस्वरूप शर्मा का पूरा परिवार उनके सपने को पूरा करने के लिए कार्यरत : अविनाश राय खन्ना

 

परमार ने कहा कि पीठासीन अधिकारियों के अतिरिक्त वैधानिक समितियों के सचिवों का 58वां सम्मेलन भी 15 नवम्बर को धर्मशाला में आयोजित किया जायेगा।  परमार ने कहा कि इस सम्मेलन में सभी राज्यों की विधानसभाओं के पीठासीन अधिकारी भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों की विधान सभाओं के उपाध्यक्ष व प्रधान सचिव सचिव भी भाग लेंगे। परमार ने कहा कि प्रत्येक राज्य विधान सभाओं से कुल 4 प्रतिनिधि ;अध्यक्षए उपाध्यक्षाए सचिव तथा एक वरिष्ठ अधिकारीद्ध इस सम्मेलन में भाग लेंगे। 

इसे भी पढ़ें: क्षेत्रवाद तो तब होता था जब सरकार बदलते ही टोपियों का रंग बदल जाता था : जयराम ठाकुर

परमार ने कहा कि इसके अतिरिक्त लोकसभा व राज्य सभा सचिवालय के महा.सचिव तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस सम्मेलन में भाग लेंगे जबकि हिमाचल सरकार के मुख्य सचिवए विभिन्न विभागों के प्रशासनिक सचिव जो इस सम्मेलन से जुड़े है तथा विधान सभा सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारी भी इस सम्मेलन में भाग लेंगे। परमार ने कहा कि लोक सभाए राज्य सभाए सभी राज्य विधान सभाओं से लगभग 450 प्रतिभागी इस सम्मेलन में शामिल होंगे। 

परमार ने कहा कि इस कार्यक्रम में 14 नवम्बर को अतिथियों का आना आरम्भ होगा तथा 15 नवम्बरए 2021 को सचिवों का 58वां सम्मेलन होगा। उन्होंने कहा कि 16 नवम्बर तथा 17 नवम्बर को पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन होगा जिसका शुभारम्भ लोक सभा के माननीय अध्यक्ष एवं अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के चेयरमैन श्री ओम बिड़ला 16 नवम्बर को  करेंगे। इस कार्यक्रम में राज्य सभा के उप.सभापति ए माननीय मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश श्री जय राम ठाकुर मंत्री परिषद के सभी सम्माननीय सदस्यों लोक सभा तथा राज्यसभा के महासचिव राज्य विधान सभाओं के सचिव भी विशेष रूप से मौजूद रहेंगे।  परमार ने कहा कि 18 नवम्बर को सम्मेलन बाद का दर्शनीय स्थलों भ्रमण तथा अतिथियों द्वारा प्रस्थान किया जायेगा। 

परमार ने कहा कि अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का प्रथम सम्मेलन वर्ष 1921 में 15 व 16 सितम्बर को शिमला में आयोजित किया गया था। उसी को सुस्मरण करते हुए 82वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन को शताब्दी वर्ष  2021 में हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा स्थित धर्मशाला तपोवन विधान सभा में आयोजित किया जा रहा है।  परमार ने कहा कि विधान सभा सचिवालय में इसके आयोजन की तैयारिया शुरू कर दी हैं तथा उन्होंने जिला प्रशासन कांगड़ा के साथ पिछले महीने बैठक कर उचित दिशा निर्देश जारी कर दिये थे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।