बंगाल में अमित शाह ने तीन बीघा गलियारे का दौरा किया, बीएसएफ के जवानों से मिले

Amit Shah
ani
केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को भारत-बांग्लादेश सीमा पर पश्चिम बंगाल के कूच बिहार स्थित ‘तीन बीघा’ गलियारे का निरीक्षण किया और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों-जवानों से सुरक्षा संबंधित विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की।

कूच बिहार। केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को भारत-बांग्लादेश सीमा पर पश्चिम बंगाल के कूच बिहार स्थित ‘तीन बीघा’ गलियारे का निरीक्षण किया और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों-जवानों से सुरक्षा संबंधित विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की। दो दिवसीय यात्रा पर बंगाल पहुंचे शाह ने जीकाबारी सीमा चौकी पर तैनात बीएसएफ के जवानों के साथ भी कुछ समय बिताया और उनके अनुभवों के बारे में जाना।

इसे भी पढ़ें: बग्गा की गिरफ्तारी के खिलाफ AAP कार्यालय के बाहर भाजपा कार्यकर्ताओं का हल्ला बोल, दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया

शाह ने ट्वीट किया, “पश्चिम बंगाल के तीन बीघा सीमा क्षेत्र में सुरक्षा संबंधित विभिन्न मुद्दों को लेकर ‘जीरो प्वाइंट’ पर बीएसएफ अधिकारियों के साथ बैठक की। मैं इस संवेदनशील क्षेत्र की रक्षा करने वाले बीएसएफ जवानों को बधाई देता हूं।’’ उन्होंने सीमावर्ती क्षेत्र में वृक्षारोपण अभियान में भाग लिया। गृह मंत्री ने कहा कि पूरे देश को जवानों के समर्पण और कर्तव्य निष्ठा पर गर्व है।

इसे भी पढ़ें: पेयजल समस्या को लेकर हिसार-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किया

उन्होंने बृहस्पतिवार को उत्तर 24 परगना जिले के सुंदरबन क्षेत्र के हिंगलगंज में बीएसएफ की तैरती सीमा चौकियों (बीओपी) और एक नाव एम्बुलेंस का शुभारंभ किया था। गृह मंत्री ने हरिदासपुर में ‘मैत्री संग्रहालय’की भी आधारशिला रखी थी। यह संग्रहालय वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान बीएसएफ की बहादुरी से लोगों को परिचित करवाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़