आजाद का त्यागपत्र कुछ वैसा ही, जैसा मैंने कांग्रेस छोड़ते समय लिखा था : मुख्यमंत्री हिमंत

 CM Himanta
ANI
असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व सरमा ने शुक्रवार को कहा कि गुलाम नबी आजाद के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे गए त्यागपत्र में कई ऐसी समानताएं हैं, जो उनके द्वारा 2015 में कांग्रेस छोड़ने के समय लिखे गए त्यागपत्र में भी थीं।

गुवाहाटी। असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व सरमा ने शुक्रवार को कहा कि गुलाम नबी आजाद के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे गए त्यागपत्र में कई ऐसी समानताएं हैं, जो उनके द्वारा 2015 में कांग्रेस छोड़ने के समय लिखे गए त्यागपत्र में भी थीं। सरमा ने एक कार्यक्रम के इतर आरोप लगाया कि कांग्रेस में समस्या यह है कि हर कोई जानता है कि राहुल गांधी ‘‘अपरिपक्व, सनकी और मनमौजी’’ हैं लेकिन उनकी मां अब भी उन्हें आगे बढ़ाने का प्रयास कर रही हैं। मुख्यमंत्री सरमा ने दावा किया, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष (सोनिया गांधी) पार्टी की सुध नहीं ले रही हैं। वह असल में पिछले कई वर्षों में अपने बेटे को आगे बढ़ाने का प्रयास कर रही हैं लेकिन यह एक व्यर्थ प्रयास है... उनका उद्देश्य पूरा नहीं होगा।’’

इसे भी पढ़ें: Donald Trump की मुश्किलें बढ़ी! FBI ने घर पर की छापेमारी, 15 बॉक्स में भरे मिले अमेरिकी सुरक्षा से जुड़े सीक्रेट डाक्यूमेंट्स

उन्होंने कहा कि पार्टी के लिए वफादार रहे नेता एक के बाद एक पार्टी छोड़कर जा रहे हैं। सरमा ने कहा, ‘‘ मैंने 2015 में लिखा था कि ऐसा समय आएगा, जब कांग्रेस में गांधी परिवार ही रह जाएगा और बाकी सब पार्टी छोड़ जाएंगे। यही हो रहा है।’’ गुलाम नबी आजाद ने शुक्रवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता समेत सभी पदों से इस्तीफा दे दिया तथा नेतृत्व पर आंतरिक चुनाव के नाम पर पार्टी के साथ बड़े पैमाने पर ‘धोखा’ करने का आरोप लगाया।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने Munawar Faruqui के शो को किया रद्द, VHP की धमकी के बाद प्रशासन ने उठाया ये कदम

सरमा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरे द्वारा 2015 में लिखे गए पत्र में कई ऐसी समानताएं है जो आजाद साहब के त्यागपत्र में भी हैं।जो मुद्दे वहां (कांग्रेस) तब थे, वही अब भी हैं और बरकरार भी रहेंगे और ऐसे हालात बन जाएंगे कि गांधी परिवार ही कांग्रेस पार्टी में रह जाएगा।’’ कांग्रेस नेता राहुल गांधी का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री सरमा ने तंज किया कि वह भाजपा के लिए ‘‘वरदान’’ हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ जब दोनों दलों के नेताओं की तुलना की जाती है तो भाजपा, कांग्रेस से आगे नजर आती है जो हमारे पक्ष में है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़